बारिश व आंधी ने मचाई तबाही, कई पेड़ जमींदोज, बिजली हुई गुल

सिंगरौली//राघवेन्द्र सिंह गहरवार।

रविवार की शाम जिले के मौसम में अचानक बदलाव हुआ। जिले के कई हिस्सों में तेज आंधी ने तबाही मचाई वही मौसम के रोज बदलते मिजाज से लोगो को काफी परेशानी बढ़ गई है गर्मी के महीने में जहां चिलचिलाते धूप पड़नी चाहिए वहां हर दिन आंधी व बारिश हो रही है मानो आषाढ़ का महीना आ गया हो,आंधी से कई जगहों पर पेड़ जमींदोज हो गए वही बिजली गुल हो गई कई स्थानों पर बिजली के खम्बे टूट गये तो कही बिजली के तारो पर पेड़ो की डालियां गिर गई तूफान से जिससे बिजली विभाग को भी काफी क्षति पहुंचा है दर्जनो स्थानों पर बिजली के तार व खम्बे गिर जाने से विधुत आपूर्ति बाधित हो गई अनेक जगहों पर खम्बे और तार टूटने से बिजली विभाग द्वारा मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों से यहां तेज गर्मी पड़ रही है। एक-दो दिनों से आसमान में हल्के बादल छा रहे थे। जिससे लोग उमस से परेशान थे रविवार को भी सुबह से जिले के सभी जगहों पर लोग उमस से बेचैन थे

शाम में अचानक मौसम में बदलवा हुआ और आसमान में बादल छा गए देखते-देखते अचानक धूल भरी तेज आंधी चलनी शुरु हो गई। हवा की रफ्तार इतनी तेज थी कि क्षेत्र के कई स्थानों पर पेड़ उखड़ गए। कई जगहों पर बिजली के तारों में भी पेड़ गिरने की खबर है। जहां धूल भरी आंधी के कारण रास्ते में आवागमन करने वाले खासे परेशान रहे वे किसी तरह अपने आपको धूल से बचाते रहे वहीं इस आंधी के कारण जिला मुख्यालय सहित जिले के कई हिस्सों की बिजली गुल हो गई।

खुटार पंचायत भवन के प्रांगण के पेड़ हुए जमींदोज

आंधी की तबाही का आलम ये था कि अनगिनत पेड़ जमींदोज हो गए वही खुटार पंचायत में सालो पुराने विशालकाय पेड़ तेज आंधी में जमीन से उखड़ कर पुराने पंचायत भवन पर जा गिरा गरिमत यही रही कि शाम का समय होने के कारण पंचायत में कोई भी व्यक्ति नही था वरना बड़ी दुर्घटना हो सकती थी

नव निर्माणाधिन घर के सेटरिंग से छड़ की जाली उड़ने से बैल की मौत

आंधी की रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नव निर्माणाधीन भवन का सेटरिंग और छड़ की जाली उड़ गई जिससे पास ही में बंधे बैल की छड़ से दबने से मौत हो गई