इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में महिला अपराधों (Female crimes) में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इसी कड़ी में इंदौर में एक राह चलती छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने का मामला (Molestation case) सामने आया है। जिसकी शिकायत पर इंदौर पुलिस (Indore Police) अब उस आरोपी को अलग तरीके से सबक सिखाने जा रही है। इंदौर पुलिस (Indore Police) ने कहा कि अब आरोपी के बाइक का लाइसेंस निरस्त (Bike license revoked) किया जाएगा। जिससे वह पुलिस स्टेशन (police station) से छूटने के बाद भी फिर से उस गाड़ी का उपयोग ना कर सके। जिसके लिए RTO को भी बाइक का डिटेल (Bike detail) भेजा जा चुका है।

बाइक सवार लड़के ने छात्रा के साथ की छेड़छाड़

बता दें कि इंदौर (Indore) के निजी कॉलोनी में रहने वाली छात्रा कॉलेज जा रही थी। तभी एक सिरफिरा लड़का (Mad boy) अपनी बाइक से छात्रा का पीछा करने लगा। जिसके बाद छात्रा को अंदेशा हुआ कि कोई उसका पीछा कर रहा है, तब छात्रा ने पीछे पलट कर देखा तो एक लड़का बाइक पर उसका पीछा कर रहा था। जिसके बाद छात्रा पेट्रोल पंप (Petrol pump) पर जाकर रुक गई। जहां भीड़ को देखकर आरोपी कुछ दूर में ही रुक गया, लेकिन जैसे ही छात्रा (Student) वहां से निकल कर जाना शुरू की, वैसे ही आरोपी फिर से छात्रा (Student) का पीछा करने लगा और आगे जाकर बाईपास में सुनसान इलाका पाकर छात्रा के साथ छेड़छाड़ (Student molestation) करने लगा। जिसकी शिकायत (complaint) छात्रा ने पुलिस में की है।

आरोपी के खिलाफ छेड़छाड़ की धाराओं में मामला दर्ज

छेड़छाड़ से सहमी छात्रा ने तुरंत ही पुलिस कंट्रोल रूम (Indore Police Control Room) में कॉल किया। जैसे ही सूचना मिली राजेंद्र नगर थाना पुलिस (Rajendra Nagar Police Station) ने मौके पर छात्रा की शिकायत पर छेड़छाड़ की धाराओं (Case registered for molestation) में आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया और आरोपी की तलाश में जुट गए। इस मामले में पुलिस के लिए आरोपी को गिरफ्तार (Arrested the accused) करना एक चुनौती थी, क्योंकि आरोपी की पहचान नहीं हो पा रही थी।

बाइक नंबर के आधार पर हुई आरोपी की गिरफ्तारी

आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे (CCTV cameras) को चेक किया, लेकिन बायपास होने की वजह से ज्यादा कुछ जानकारी नहीं मिल सकी। जिसके बाद पुलिस ने कुछ जगहों पर तकनीकी आधार (Technical basis) पर जांच की, तब एक बाइक दिखाई दिया। जिस पर पुलिस को संदेह हुआ। जिसके बाद पुलिस ने छात्रा को बाइक और बाइक का नंबर बताते हुए युवक का हुलिया बताया। जिससे छात्रा ने इसकी पुष्टि की, कि बाइक सवार लड़के ने ही उसके साथ छेड़छाड़ की है।

आरोपी के बाइक का लाइसेंस होगा निरस्त 

आरोपी का पता चलते ही पुलिस ने गाड़ी संख्या के आधार पर आरोपी को चंद घंटों में ही गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल किया है। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी के बाइक का लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की है, जिसके लिए उन्होंने पूरे बाइक की डिटेल आरटीओ ऑफिस भेज दिया है। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि आरोपी ने जब छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया था, उस समय उसने अपने बाइक का इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा कि इसी के चलते अब आरोपी के बाइक का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई की जा रही है, ताकि वह जमानत पर छूटने के बाद भी अपने बाइक का इस्तेमाल ना कर सके। यह उसके लिए एक सबक होगा।