तहसीलदार नाजिर ने किया लाखों का घोटाला, पत्नी और रिश्तेदारों के खाते में डाली किसानों की राहत राशि

कोलारस तहसील में पदस्थ नायब नाजिर दिलीप जाटव पर सूखा राहत राशि का गबन का मामला दर्ज किया गया है।

कोलारस, मोनू प्रधान। कोलारस तहसील में पदस्थ नायब नाजिर दिलीप जाटव पर सूखा राहत राशि का गबन का मामला दर्ज किया गया है। उस पर आरोप है कि उसने हजारों किसानों के खाते में डालने के लिए सरकार द्वारा भेजी गई सूखा राहत की राशि अपनी पत्नी सहित कई रिश्तेदारों व मिलने वालों के खातों में ट्रांसफर कर दी। यह धोखाधड़ी ऑडिट टीम ने जांच के दौरान पकड़ी। जिसकी जिला स्तर पर गठित टीम ने जांच करने के बाद कोलारस थाने में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई। पुलिस ने नाजिर दिलीप जाटव के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अमानत में खयानत का मामला दर्ज कर लिया है।

ये भी देखें- MP News: सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा नवंबर का वेतन! जानें क्यों?

जानकारी के अनुसार कोलारस तहसीलदार अखिलेश शर्मा ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि वर्ष 2017 में सूखे की स्थिति निर्मित होने के बाद शासन ने सूखा राहत का सर्वे करवाने के बाद करोड़ों की राशि भेजी थी। यह राशि 2018-19 में खातों में ट्रांसफर की गई। जिन लोगों के खातों में राशि डाली गई, उनमें नाजिर की पत्नी सहित कई रिश्तेदार शामिल हैं। आरोप है कि उसने 82 लाख 76 हजार रुपए का घोटाला किया है। मामले की जांच तहसीलदार अखिलेश शर्मा ने की और जांच में नाजिर को दोषी पाते हुए उसके खिलाफ थाने में प्रकरण दर्ज करवाया।