प्रभारी मंत्री के दौरे से बढ़ी अफसरों की धड़कन, कहीं सड़कों के गड्ढे न दे दें “जोर का झटका”

नगर निगम के अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव से 5 लाख रुपये का बॉन्ड भरवाया है और रोज गड्ढों की प्रोग्रेस रिपोर्ट मांगी है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर शहर की बदहाल सड़कें नगर निगम (Gwalior Municipal Corporation) के अधिकारियों के लिए मुसीबत बन गई हैं।  अमृत योजना और स्मार्ट सिटी के कार्यों के चलते शहर की अधिकांश सड़कें खुदी पड़ी हैं जिन्हें सुधारने और गड्ढों को भरने के लिए पिछले दौरे पर प्रभारी मंत्री ने 10 दिन का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन अल्टीमेटम को 15 दिन हो चुके हैं बावजूद इसके निगम अमला कुछ खास  नहीं कर पाया है ऐसे में प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट (Tulsiram  Silawat) रविवार को फिर ग्वालियर (Gwalior) के दौरे पर हैं जिसे लेकर नगर निगम के अधिकारियों की धड़कन बढ़ी हुई है।

प्रभारी मंत्री के दौरे से बढ़ी अफसरों की धड़कन, कहीं सड़कों के गड्ढे न दे दें "जोर का झटका"

ग्वालियर की बदहाल सड़कों की हालत सुधरने का नाम नहीं ले रही है , इधर सड़कों के गड्ढों ने अधिकारियों की मुसीबत बढ़ा दी है। प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा दिया हुआ 10 दिन का अल्टीमेटम भी खत्म हो गया है। प्रभारी मंत्री ने पिछले दौरे पर 26 अगस्त को सड़कों के हाल देखने के बाद अधिकारियों के साथ मीटिंग में सख्ते तेवर दिखाते हुए अल्टीमेटम दिया था कि 10 दिन में सड़कों के गड्ढे भर जाने चाहिए लेकिन आज प्रभारी मंत्री के अल्टीमेटम को 15 दिन से अधिक समय बीत जाने के बावजूद सड़कों की हालत ख़राब है।

ये भी पढ़ें – MP Politics: VD Sharma ने की BJP प्रदेश कार्यसमिति सदस्यों की घोषणा, इनको मिली जगह

ऊर्जा मंत्री भी दे चुके हैं सड़कों को सुधारने के निर्देश

ग्वालियर के विधायक एवं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर भी ग्वालियर प्रवास के दौरान लगातार सड़कों के गड्ढे भरने और पेच वर्क गुणवत्ता पूर्ण करने के निर्देश दे चुके हैं। शुक्रवार को ही ऊर्जा मंत्री ने शिंदे की छावनी क्षेत्र में औचक  निरीक्षण के दौरान निगम के ठेकेदार और इंजीनियरों को कड़े निर्देश दिए थे।

ये भी पढ़ें – विजय रुपाणी के इस्तीफे पर बोली कांग्रेस- ये भाजपा की अंदरूनी लड़ाई और मोदी-शाह की विफलता

कलेक्टर ने भरवाया है 5 लाख का बॉन्ड 

ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह भी सड़कों की बदहाली पर नाराज हैं।  यातायात में बाधक बन रहे और लोगों की सेहत ख़राब कर रहे सडकों के गड्ढों को लेकर कलेक्टर ने दो दिन पहले मीटिंग में नगर निगम के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई है उन्होंने बैठक में मौजूद रहे नगर निगम के अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव से 5 लाख रुपये का बॉन्ड भरवाया है और रोज गड्ढों की प्रोग्रेस रिपोर्ट मांगी है। इससे पहले कलेक्टर ने जयेन्द्रगंज की सड़क पर गुणवत्ताहीन पेच वर्क को लेकर नगर निगम के इंजीनियर को कड़ी फटकार लगाई थी।

 ये भी पढ़ें – जांच समिति पर नरोत्तम का तंज – “न खाता,न बही,कांग्रेस जो कहे, वही सही”

प्रभारी मंत्री रविवार को दौरे पर, निगम अधिकारी परेशान

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट रविवार को ग्वालियर दौरे पर आ रहे हैं। वे रविवार को वायुयान से 12 बजे ग्वालियर पहुंचेंगे और शहर का भ्रमण करेंगे।  इस दौरान वे सड़कों की हालत भी देखेंगे।  प्रभारी मंत्री का कार्यक्रम जारी होने के बाद से नगर निगम के अधिकारियों के दिल की धड़कनें तेज हो गई हैं।  नगर निगम के गलियारों में चर्चा है कि सड़क के गड्ढे कहीं किसी को जोर का झटका ना दें दें।