बैठक में अध्यक्ष और जनपद सदस्यों के बीच छिड़ी तीखी बहस, नये-पुराने कार्यों की हुई समीक्षा

जनपद बैठक में कई मुद्दों को लेकर समीक्षा की गई। इस दौरान जनपद की बैठक हंगामेदार रही।

परासिया, विनय जोशी। छिंदवाड़ा में आज जनपद सभा कक्ष में सामान्य सभा बैठक का आयोजन हुआ जिसमें जनपद सदस्यों के बीच तीखी बहस छिड़ गई। बैठक में कार्यों की समीक्षा के दौरान जनपद अध्यक्ष और एक जनपद सदस्य के बीच बहस शुरू हो गई जिससे पूरा माहौल हंगामे में बदल गया। वहीं मामले पर अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत होने पर बैठक कार्रवाई आगे बढ़ी।

ये भी देखें- 2 मुंह और 3 आंख वाला ‘अनोखा’ बछड़ा! इसे देखकर आप भी पड़ जाएंगे हैरत में, Video

जानकारी के मुताबिक जनपद अध्यक्ष रईस खान की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में उमरेठ के जनपद सदस्य कैलाश सोनी और अध्यक्ष के बीच निर्माण कार्यों की जानकारी की बात को लेकर बहस हुई। जनपद सदस्य ने बीते पांच वर्षों में कराए गए निर्माण कार्यों का ब्यौरा मांगा। बैठक के एजेंडें में यह मुद्दा शामिल नहीं होने पर उस पर चर्चा से इंकार कर दिया गया, जिससे मामला गर्मा गया। बैठक 15वें वित्त की राशि 4.75 लाख रुपए को जपं क्षेत्र स्तर पर खर्च करने प्रस्ताव देने के लिए आयोजित हुई थी। जपं सदस्य बुद्धनाथ विक्की चौहान ने कहा कि कुछ जनपद क्षेत्रों में एक पंचायत, तो कुछ में तीन और पांच से अधिक पंचायतें शामिल हैं। जिससे जपं सदस्यों ने सरपंच सचिव से चर्चा कर दो दिनों में प्रस्ताव देना तय किया।

ये भी देखें- वन विभाग ने पकड़ा शातिर तस्कर, वन्य जीवों की हड्डियां, सींग, नाखून बरामद

बैठक में जनपद सीईओ मो. सलीम, आरईएस- एसडीओ समेत विभिन्न विभाग प्रमुख शामिल रहे। सभागृह में सामान्य सभा की बैठक में उपस्थित पदाधिकारी उपाध्यक्ष ने जनपद की दुकानों का मामला रखा। जनपद उपध्यक्ष रामअवतार गुप्ता ने बैठक में जनपद द्वारा परासिया के गुरुगोविंद सिंध चौक पर बने शॉपिंग काम्प्लेक्स के किराए का मामला उठाया। यहां अधिकृत दुकानदारों ने अन्य लोगों को दुकानें बेच दी और कुछ अन्य दुकानें भी खरीदी कर उसके नक्शे में बदलाव किया है। इस काम्प्लेक्स का किराया बहुत कम है, जबकि मार्केट में किराया काफी अधिक है। जिसका जपं ने पूर्व में सत्यापन करवाया था, जिससे जपं सदस्य संतुष्ट नहीं होने से पुनः सत्यापन करवाने की सहमति बनी। ढाला पंचायत में अतिक्रमण का मुद्दा भी उठा। ग्राम पंचायत ढाला में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण का मामला भी सामने आया। जपं सदस्य रूपा वर्मा ने बताया कि ढाला पंचायत में कुछ लोगों द्वारा शासकीय भूमि से कब्जा किया, जिसे हटाने की बात कहने पर उनके खिलाफ पुलिस में झूठी शिकायत हुई है। इस मामले में जपं सीईओ द्वारा संबंधित पंचायत सचिव को अतिक्रमण हटाने संबंधी कार्रवाई करने निर्देशित किया जाएगा। बैठक में साफ सफाई को लेकर भी मुद्दा उठाया गया। साथ ही इस मामले में सचिव को बुलाकर समाधान करने की बात की गई।