जननी एक्सप्रेस के पहिये थमे, गर्भवती महिलाओं की परेशानी बढ़ी

इधर जननी एक्सप्रेस सेवा बंद होने की वजह से स्वास्थ्य विभाग के अमले ने शासकीय अस्पतालों की एंबुलेंस को तैनात कर दिया है

जबलपुर, संदीप कुमार।  डिपॉजिट मनी और नियमित भुगतान न होने की वजह से जबलपुर जिले में भी जननी एक्सप्रेस के पहिए जाम कर दिए गए और सभी जननी एक्सप्रेस एंबुलेंस रानी दुर्गावती महिला अस्पताल कैंपस में खड़ी कर दी गई है, गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशु को लाने के लिए जननी एक्सप्रेस एंबुलेंस सुविधा प्रारंभ की गई थी और उसके लिए निजी कंपनी को ठेका दिया गया था। निजी कंपनी ने स्थानीय वेंडर्स से वाहन किराए पर लिए थे। बीते दिनों कंपनी का ठेका समाप्त होने के बाद से कंपनी ने अपने वेंडर्स को भुगतान करना बंद कर दिया।

कंपनी ने एम्बुलेंस  संचालकों की जमानत राशि को भी वापस लौटाने से इनकार कर दिया है,जिस वजह से जननी एक्सप्रेस के कर्मचारियों ने नाराज होकर काम बंद हड़ताल कर दी। जबलपुर में लगभग 18 जननी एक्सप्रेस अपनी सेवाएं दे रही हैं लेकिन अब जननी एक्सप्रेस सर्विस बंद कर दी गई है।

ये भी पढ़ें – जबलपुर लोकायुक्त की कार्रवाई, मंडला में पटवारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

जननी एक्सप्रेस में काम करने वाले कर्मचारियों का पिछले 2 माह से नियमित भुगतान ना मिलने और गारंटी मनी को वापस न देने की वजह से काम बंद कर दिया है।  इस दौरान जननी एक्सप्रेस के ड्राइवरों और मालिकों ने भुगतान न मिलने की एवज में जमकर नारेबाजी की और पूरी तरह से काम बंद कर दिया।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : एयरपोर्ट विस्तार और नए टर्मिनल के लिए मिली 110 एकड़ जमीन, NOC जारी

इधर जननी एक्सप्रेस सेवा बंद होने की वजह से स्वास्थ्य विभाग के अमले ने शासकीय अस्पतालों की एंबुलेंस को तैनात कर दिया है हालांकि यह वैकल्पिक व्यवस्था लंबे समय तक नहीं चल सकेगी लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का मानना है कि इमरजेंसी आने पर एंबुलेंस सेवा निशुल्क उपलब्ध है। इसके साथ ही जननी एक्सप्रेस के संचालकों और ठेका कंपनी के अधिकारियों के बीच बातचीत हो रही है जल्द ही कोई रास्ता निकल आएगा। जननी एक्सप्रेस सेवा के बंद होने से गर्भवती महिलाओं को अस्पताल तक लाने का काम बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

ये भी पढ़ें – खादी के कपड़े डिजाइन कीजिये और पाइये इनाम, जानिये डिटेल्स