CCTV लगाने आये युवक ने डॉक्टर से मांगा था 10 लाख रुपये टैरर टैक्स, गिरफ्तार

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। प्रतिष्ठित डॉक्टर से अज्ञात व्यक्ति द्वारा व्हाट्स एप के जरिये 10 लाख रुपये टैरर टैक्स (Terror Tax) मांगने की गुत्थी को पुलिस (gwalior police) ने सुलझा लिया है। खास बात ये है कि टैरर टैक्स इंटरनेशनल नंबर से मांगा गया था और नहीं देने पर पत्नी और बच्चों को नुकसान पहुँचाने की धमकी दी गई थी।  ग्वालियर पुलिस की साइबर सेल ने इसे सुलझा लिया और खुलासा किया कि टैरर टैक्स मांगने वाला व्यक्ति लोकल ही है और नंबर भी लोकल ही था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

ग्वालियर के कम्पू थाना क्षेत्र के जवाहर कॉलोनी में रहने वाले डॉ अमित थावरानी (Dr Amit Thawrani)  शहर के प्रतिष्ठित और प्रसिद्ध गेस्ट्रोइंटेरोलॉजिस्ट हैं। वे घर पर ही क्लिनिक चलाते हैं।  उनके व्हाट्स एप नंबर पर पिछले दिनों किसी अज्ञात व्यक्ति ने 10 लाख रुपये की मांग की थी।  डॉ अमित थावरानी ने टैरर टैक्स मांगे जाने की शिकायत पुलिस अधीक्षक अमित सांघी से की एसपी के निर्देश पर  क्राइम ब्रांच पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। व्हाट्स चैट के जरिये टैरर टैक्स मांगने का अलग तरह का मामला सुनकर पुलिस भी चौंक गई।

ये भी पढ़ें – MP Board: 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, परीक्षा कार्यक्रम घोषित, देखे यहां

क्राइम ब्रांच को दिए शिकायती आवेदन में डॉ अमित थावरानी ने कहा कि बीती 26 जुलाई को उनके व्हाट्स एप नंबर पर करीब आधी रात को एक इंटरनेशनल नंबर से धमकी भरा मैसेज आया। जब उन्होंने सुबह मैसेज देखा तो मैसेज करने वाले नंबर से बात करनी चाही तो उसने व्हाट्स एप कॉल पर बात कर 10 लाख रुपये की मांग की और नहीं देने पर मेरी पत्नी और बच्चों को नुकसान पहुंचाने की धमकी दी।

ये भी पढ़ें – बंदी को सुविधा देने दो प्रहरी मांग रहे थे रिश्वत, लोकायुक्त ने किया रंगे हाथ गिरफ्तार

मामला शहर के प्रतिष्ठित चिकित्सक से होने के कारण पुलिस सक्रियता और सावधानी दोनों बरत रही थी।  एसपी ने क्राइम ब्रंच और साइबर सेल को मामला सुलझें एक निर्देश दिए जिसका असर ये हुआ कि पुलिस ने आरोपी को खोज निकाला। आरोपी ग्वालियर का ही निकला जो डॉक्टर के यहाँ CCTV लगाने आया था।

ये भी पढ़ें – अंधे कत्ल का पर्दाफाश तीन आरोपी गिरफ्तार, अवैध संबंधों के शक में की थी हत्या

एसपी अमित सांघी (SP Amit Sanghi) ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए साइबर सेल ने बहुत बारीकी से तथ्य जुटाए।  तकनीकी टीम ने अपने तरीके से और क्राइम ब्रांच थाने की टीम ने ग्राउंड लेबल पर अपने तरीके से सख्य जुटाए और और पुलिस आरोपी तक पहुँच गई।  एसपी ने बताया कि आरोपी ने कुछ समय पहले डॉ अमित थावरानी के घर पर CCTV कैमरे लगाए थे इस दौरान उसने घर को देख लिया था उसने घर के लोगों की मूवमेंट भी देख ली थी।  धमकी में उसने घर के लोगों की मूवमेंट का जिक्र किया था और यही से पुलिस को सुराग मिला।

एसपी ने इंटरनेशनल कॉल के सवाल पर कहा कि आरोपी ने एक एप का इस्तेमाल कर नंबर में बदलाव किया और उसे इंटरनेशनल नंबर जैसा बनाया।  पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, उसने अपराध करने के पीछे आर्थिक तंगी की बात कही है।  पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।