Tiger State में आपका स्वागत है! आइए जानें MP के राष्ट्रीय उद्यानों की विशेषताएं

National Parks In MP : टाइगर स्टेट के नाम से जाना जाने वाले मध्यप्रदेश में कुल इतने नेशनल पार्क स्थित है। आइए विस्तार से जानें इनकी खासियत....

National Parks In MP : मध्यप्रदेश एक ऐसा राज्य है जो कि पर्यटन स्थलों में प्रमुख है। यहां पर घूमने के लिए मंदिर, जलप्रपात, किला, पहाड़ की वादियों है। इन सबसे हटकर हम आज आपको बताने जा रहे हैं नेशनल पार्क के बारे में। क्या आप जानते हैं कि पूरे राज्य में कुल 12 राष्ट्रीय उद्यान है। जिसके हर प्रकार के जीव पाए जाते हैं। तो चलिए आज के इस खास आर्टिकल में हम आपको उन सभी अभ्यारण के नाम सहित वहां की पूरी जानकारी विस्तार से बताएंगे।

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान

मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा नेशनल पार्क कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान है जो कि मंडला और बालाघाट के बीच फैला हुआ है। जिसका कुल क्षेत्रफल 940 वर्ग किलोमीटर है। इसे टाइगर रिजर्व के रुप में जाना जाता है।

पन्ना राष्ट्रीय उद्यान

पन्ना टाइगर रिजर्व से हर कोई अच्छी तरह से वाकिफ है जो कि 543 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर मुख्यत: बाघ, तेंदुआ पाया जाता है। अक्सर ही, यहां वन्य प्राणी घूमते हुए नजर आते हैं।

माधव राष्ट्रीय उद्यान

मध्यप्रदेश के शिवनी जिले में माधव राष्ट्रीय उद्यान स्थित है जो कि कुल 375 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर हर प्रकार के जगंली जीव मौजूद है। गर्मियों में यहां लोगों की काफी भीड़ देखने को मिलती है।

पेंच राष्ट्रीय उद्यान

छिंदवाड़ा और सिवनी जिले के बीच पेंच राष्ट्रीय उद्यान स्थित है जो कि कुल 293 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। इसका नाम इलाके में बहने वाली पेंच नदी के नाम पर रखा गया है। यहां सबसे ज्यादा कृष्ण मृग पाये जाते हैं। इसे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उद्यान के नाम से भी जाना जाता है।

सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान

सतपुड़ा नेशनल पार्क सबसे ज्यादा प्रख्यात उद्यानों में से एक है। यह होशंगाबाद जिले में 525 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। जहां पर ज्यादातर काला हिरण पाया जाता है।

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान

मध्य प्रदेश के कटनी जिले में स्थित बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान 449 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यह पार्क भी टाइगर रिजर्व घोषित किया जा चुका है। यह उद्यान सफेद शेर के लिए खासकर जाना जाता है।

कूनो राष्ट्रीय उद्यान

इस नेशनल पार्क का नाम तो हर किसी को याद होगा। हाल ही में यहां विदेश से चीता लाया गया था। यह राष्ट्रीय उद्यान श्योपुर जिले में स्थित है जो कि लगभग 750 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर हर प्रकार के चीता रहते हैं।

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान

यह राष्ट्रीय उद्यान भोपाल में ही स्थित एक महत्वपूर्ण नेशनल पार्क है जो कि लगभग 4.45 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। यहां पर कई प्रकार के वन्य जीव पाए जाते हैं। इसके अलावा, यहां सांपों की कई प्रजातियां भी प्रवास करती है।

संजय राष्ट्रीय उद्यान

मध्यप्रदेश के सीधी जिले में संजय राष्ट्रीय उद्यान स्थित है। जिसकी स्थापना साल 1981 में की गई थी जो कि 467 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है।

ओंकारेश्वर राष्ट्रीय उद्यान

ओंकारेश्वर राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में स्थित है जो कि 293 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर कई प्रकार के वन्य जीव पाए जाते हैं।

डायनासोर जीवाश्म उद्यान

मध्य प्रदेश के धार जिले में डायनासोर जीवाश्म उद्यान स्थित है जो कि कुल 0.89 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है। जिसमें कई प्रकार के जंगली जीव जन्तु पाए जाते हैं।

फॉसिल जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान

डिंडोरी जिले में स्थित फॉसिल जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान है जो कि कुल 0.27 वर्ग किलोमीटर इलाके में फैला हुआ है।