लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, 50 हज़ार की रिश्वत लेते बिजली विभाग का अफसर गिरफ्तार

आरोपी इंजिनीयर ने चोरी प्रकरण में रिवाइस करने के लिए 1 लाख रुपये की मांग की थी, जिसे आज आरोपी को उसके किराए के निवास पर आवेदक से रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त ने पकड़ा है।

टीकमगढ़, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) के टीकमगढ़ जिले (Tikamgar district) में लोकायुक्त (Lokayukt) की बड़ी कार्रवाई की खबर सामने आई है। जिले में लोकायुक्त की टीम ने छापा मारकर बिजली विभाग के अधिकारी को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। बिजली विभाग के अफसर एपी त्रिवेदी को सागर लोकायुक्त टीम ने ₹50 हजार की रिश्वत और ₹50 हजार का चेक लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़ें- MP By Election : कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची, इन नेताओं को मिली जिम्मेदारी

जानकारी के मुताबिक शिकायतकर्ता किशोर सिंह दांगी से आरोपी ने बिजली बिल कम कराने के एवज में ₹1 लाख की रिश्वत मांगी थी। जिसपर शिकायतकर्ता ने ईई अखिलेश प्रसाद त्रिवेदी की शिकायत सागर लोकायुक्त से की थी। शिकायत के आधार पर टीम ने जांच की, जिसमें आज शुक्रवार सुबह कुंवारपुरा रोड स्थित निवास से आरोपी अफसर को 50 हज़ार की रिश्वत और 50 हजार का चेक लेते हुए कुल ₹1 लाख की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों पकड़ा है।

मामले की जानकारी देते हुए लोकायुक्त निरीक्षक मंजू सिंह ने बताया कि रानीगंज के किसान किशोर सिंह दांगी ने अपने घर में आटा चक्की मिल लगाया था। इंजीनियर अखिलेश त्रिवेदी ने किसान पर बिजली चोरी का झूठा प्रकरण बनाकर 2 लाख रुपए का जुर्माना ठोक दिया था। आरोपी इंजिनीयर ने चोरी प्रकरण में रिवाइस करने के लिए राहत राशि की आधी राशि रिश्वत के रूप में 1 लाख रुपये की मांग की थी, जिसे आज आरोपी को उसके किराए के निवास पर आवेदक से रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है।