विधायक और नपा अध्यक्ष पर पेट्रोल डालने का प्रयास, मचा हड़कंप

टीकमगढ़। आमिर खान। 

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले की नगर पालिका परिषद बैठक में उस समय हंगामा हो गया जब नगर पालिका के पूर्व कर्मचारी रामप्रकाश बिलगइयां ने खुद पर कोरोसिन डाल कर आत्मदाह करने का प्रयास किया। बलगइया का आरोप है कि नगर परिषद द्वारा उनका वेतन लंबे समय से रोक दिया गया है। जिस वजह से उनकी जीवनयापन मुश्किल हो गया है। वहीं, बैठक में मौजूद विधायक और उनकी पत्नी नपा अध्यक्ष का आरोप है कि रामप्रकाश बिलगइयां आत्मदाह के बहाने उनपर जानलेवा हमला करने आया था। 

दरअसल, रामप्रकाश बिलगइयां ने पूर्र नगर पालिका अधिकारी विजय शंकर त्रिवेदी को रिश्वत के एक मामले में ट्रेप करवाया था। सूत्रों के मुताबिक विधायक राकेश गिरी और बिलगइयां की तब से अनबन चल रही है। बिलगइयां का आरोप है कि विधायक राकेश गिरी के कहने पर ही उनकी पत्नी नपा अध्यक्ष लक्ष्मी गिरी द्वारा उसका वेतन रोका गया था। उसने आरोप लगाया है कि विधायक का दबाव में ही उसका तबादला दूसरे जिले में कर दिया गया। जहां उसकी लंबे समय से तन्खा जारी नहीं की गई है। इसलिए सोमवार को उसने नपा बैठक के दौरान आत्मदाह का प्रयास किया। 

विधायक ने बताया खुद पर हमला

दूसरी ओर विधायक राकेश गिरी और उनकी पत्नी नगर पालिका अध्यक्ष लक्ष्मी गिरी का आरोप है कि बिलगइयां उन पर जानवेला हमला करने के इरादे से आया था। उसने बैठक परिसर में अंदर आने के साथ ही विधायक और उनकी पत्नी के लिए अभद्र भाषा का भी इस्तेमाल किया। और दोनों पर पेट्रोल फेंकने का प्रयास भी किया। उन्होंने कहा कि उनके विरोधी नहीं चाहते कि वह अपने क्षेत्र में विकास कार्यों को अंजाम दें इसलिए इस तरह के हमला करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बिलगइयां ने उनपर पेट्रोल फेंकने का प्रयास किया लेकिन उनका पास खड़े सलमान ने उनकी जान बचा ली। सा ही उनके सुरक्षा गार्ड ने भी फिर बिलगइयां को पकड़ा। इस पूरे मामले की शिकायत विधायक ने देहात थाने में भी आवेदन देकर दर्ज कराई है।