ओरछा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के मात- पिता पर्यटन क्षेत्र ओरछा पहुंचे जहां उन्होंने रामराजा मंदिर, राजा महल बेतवा किनारे बनी बुन्देला राजाओं की छतरियों को देखा. ब्रिटिश प्रधानमंत्री के मात-पिता का कहना है कि वे यहां आकर बेहद खुश है. उन्होंने ये भी कहा भारत के लोग साफ-सफाई को लेकर काफी जागरूक हैं. ओरछा में स्वच्छता और व्यवस्था की भी उन्होंने प्रशंसा की. 

प्रधानमंत्री वोरिस जॉनसन के पिता का नाम स्टैनली जॉनसन है और उनकी माता का नाम जेनिफर है. दोनों इन दिनों अपने 12 सदस्यीय दल के सात भारत के दौरे पर है. दोनों ने ओरछा नगर की साफ-सफाई को देखकर खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा- भारत में लोग स्वच्छता को लेकर काफी जागरूक दिखने लगे हैं, यह अच्छी बात है। स्टेनली जॉनसन ने ओरछा के इतिहास को विस्तार से जाना और उससे प्रभावित भी हुए। इतिहास की जानकारी को बारीकी से समझने के बाद उसे डायरी में नोट भी किया।

इसके अलावा कई एेतिहासिक धरोहरों के साथ फोटाेग्राफी भी की। स्टेनली ने बताया कि इस बार के मेरे 12 दिवसीय इंडिया भ्रमण टूर के दौरान मुझे ओरछा घूमने का अवसर मिला। इंडिया के अधिकांश एेतिहासिक स्थलों को घूमा, लेकिन आेरछा पैलेस सबसे अच्छा लगा। स्टेनली इसके पहले मप्र के बांधवगढ़ और पेंच नेशनल पार्क में पर्यावरणविद के रूप में काम कर चुके हैं।