ओरछा।मयंक दुबे।

जेएनयू विवाद पर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा जेएनयू में छात्रों पर हमला करने वाले नकाबपोश एवीवीपी के गुंडे थे। गृहमंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी सुनियोजित षड्यंत्र था। अगर दिल्ली पुलिस ने इस पर कार्यवाही नही की तो यही माना जायेगा ।।। प्रधानमंत्री को इसकी निष्पक्ष जांच करना चाहिए ।।।। शांति के टापू पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नही की जाएगी ।। पूरा वीडियो बता रहा है कि पुलिस चुपचाप है और गुंडो को जाने दिया जा रहा है ।

वही मध्यप्रदेश कांग्रेस सेवादल द्वारा जारी की पुस्तक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल के सेवादल जैसे छिछोरे संगठन के प्रमाणपत्र की जरूरत नही के बयान पर कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा सेवादल वह संगठन है जिसने आजादी की लड़ाई में भाग लिया जेल गए  डंडे खाए ,उस दौरान जब सेवादल आजादी के लिए ब्रटिश हुकूमत से डंडे खा रही थी तब  संघ के लोग  हिन्दू संगठन को प्रेरित कर रहे थे कि  हिंदुओं ब्रटिश हुकूमत में शामिल हो जाओ यह है भाजपा का इतिहास।

दिग्विजय कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर भी हमलावर दिखे उन्होंने उनके बयान पर कि केंद्र सरकार चाहे तो मध्यप्रदेश में नागरिकता कानून लागू कर दे के बयान पर  तंज कसते हुए कहा क्या बोले कैलाश विजयवर्गीय जी तो इंदौर में आग लगाने वाले थे उनका बेटा अधिकारियों को बल्ले से पीटता है उनके बारे में हम क्या कहे भारतीय जनता पार्टी को बचपन से ही हिंसा पनपाने की शिक्षा दी जाती है।।। सेवादल  की किताब में भाजपा व संघ पर किताब पर  बात  करते हुए कहा  मैं तो पहले से ही सहमत था, जो  यूरोपीय देश मे हिटलर का हुआ वही भाजपा का हश्र होगा।।।