खुद की जान की परवाह किए बगैर बचाई सैकड़ो की जान, एमपी टूरिज्म ने दिया अदम्य साहस का खिताब

मयंक दुबे। ओरछा।

बरसात में नदी के उस पार सांसत में फंसी जानो को सुरक्षित वापस लाने वह भी खुद की जान की बाजी लगाकर एक बहादुरी का काम है और इसीलिए  मध्य प्रदेश के पर्यटन विभाग ने  ओरछा एमपीटी की राफ्टिंग टीम को उनके द्वारा किए गए आधा सैकड़ा लोगो के रेस्क्यू के लिए अदम्य साहस  अवार्ड से पुरस्कृत किया  है । एमपीटी ओरछा के मैनेजर  संजय मल्होत्रा व पूरी राफ्टिंग टीम को मिली 11-11 हजार रुपये की राशि व प्रमाणपत्र देकर सभी सदस्यों की हौसला अफजाई की गई  इस टीम को यह पुरस्कार भोपाल में पर्यटन मंत्री हनी बघेल व पर्यटन के एमडी फैज अहमद किदवई के हाथों मिला ।।।।

ओरछा की बेतवा व जामनी से इन resque को दिया अंजाम ।।

1-14 अगस्त को फुटेरा गाँव के रामस्वरूप कुशवाहा का रेस्कुए रात में  निकाला।।

2-15 अगस्त को मडोर में  बेतवा नदी में फंसे गंगाराम केवट,जगदीश पाल,राजेश केवट का रेस्कुए कर निकाला।

3-26 अगस्त को बेतवा नदी में अलग अलग जगह फसे 14 लोगो का रेस्कुए ।।।

4-14 सितम्बर को सिंहपुरा गाव में गर्भवती महिला व गम्भीर रूप से बीमार युवक समेत 13 लोगो का रेस्कुए।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here