निवाड़ी- 20 घंटे से जारी बोरवेल में गिरे मासूम की जिंदगी से जंग, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

मासूम को सुरक्षित रखने दुआओं और प्रार्थनाओं का दौर भी शुरू हो गया है| रेस्क्यू करने के लिए बबीना से आर्मी की रेस्क्यू टीम पहुंच गई

निवाड़ी, मयंक दुबे| मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) के निवाड़ी (Niwari) जिले के सैतपुरा गांव 200 फीट गहरे बोरवेल (borewell) में गिरे चार साल के मासूम प्रह्लाद (prahlad) को अब तक नहीं निकाला जा सका है। पुलिस प्रशासन और सेना की टीम रेस्क्यू (rescue) में जुटी हुई है। बच्चे के माता पिता के अनुसार घटना सुबह 9 बजे की है, 20 घंटे से ऊपर समय हो चुका है, बच्चे को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। प्रहलाद की सुरक्षा के लिए लोग दुआएं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chauhan), पूर्व सीएम कमलनाथ समेत कई नेताओं ने ट्वीट प्रहलाद के सुरक्षित होने की कामना की है।

20 घंटे से ज्यादा का वक्त हो चुका है लेकिन मासूम प्रहलाद को बचाने की कोशिश अभी भी जारी है। जिला प्रशासन की टीम लगातार रेस्क्यू में जुटी हुई है। मासूम बोरवेल में फंसा हुआ है और अब तक 50 फीट की खुदाई हो चुकी है। जबकि 10 से 15 फीट की खुदाई अभी भी बाकी है। प्रहलाद को लगातार ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। वहीं रेस्क्यू टीम और सेना लगातार खुदाई में लगी हुई है। और इसके साथ ही साथ एक कैमरा भी फिट किया गया है ताकि प्रहलाद की स्थिति पर नजर रखा जा सके। उम्मीद जताई जा रही है कि 3 से 4 घंटे प्रहलाद तक पहुंचने के लिए और लगेगा। वही मौके पर मेडिकल टीम भी मौजूद है ताकि बच्चे के निकलते ही जल्द से जल्द उसकी जांच की जा सके।

बच्चे को बचाने की मुहिम जारी है, रेस्क्यू करने के लिए बबीना से आर्मी की रेस्क्यू टीम मौके पर है। आसपास की पुलिस बल भी मौके पर मौजूद है। बोरवेल में अंदर कैमरा भेज कर बच्चे की स्थिति जानने की कोशिश की जा रही है। जेसीबी मशीनों की मदद से बोरवेल से लगभग 50 फीट दूर खुदाई की जा रही है। करीब 50 फीट खुदाई हो चुकी है। बच्चा 60 फ़ीट पर फंसा हुआ, रेस्क्यू टीम बच्चे को ऑक्सीजन पहुंचा रही है।

जानकारी के मुताबिक, मामला जिले के पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत सैतपुरा गांव का है जहां एक 4 वर्षीय मासूम बोर में गिर गया । सैतपुरा गांव निवासी हरकिशन कुशवाहा का चार वर्षीय बेटा प्रहलाद कुशवाह घर के आसपास खेल रहा था। इसी दौरान घर के पास दो सौ फीट गहरा बोर खोदा गया था। काम पूरा होने के बाद बोर को बंद नहीं किया गया था। इस बोर में बच्चा खेलते खेलते गिर गया। जब लोगों ने मासूम को बोर में गिरते देखा तो पूरा गांव में हड़कंप मच गया।

सीएम शिवराजसिंह चौहान ने बच्चे की कुशलता के लिए प्रार्थना करते हुए ट्‌‌वीट किया है। इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी बच्चे की सलामती के प्रयास करने के लिए सरकार से मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here