BJP विधायक के साथ पत्रकार की हत्या के आरोपियों की तस्वीरें वायरल, मचा हंगामा

टीकमगढ़/आमिर खान

मध्य प्रदेश के निवाड़ी विधानसभा (niwari vidhansabha) से दूसरी बार निर्वाचित सीधे और सरल माने जाने वाले विधायक अनिल जैन (mla anil jain) के इस कार्यकाल में उनपर छींटे उछल रहे हैं। इसके पूर्व भी भाजपा (bjp) के ही युवा नेता अमित राय ने उन पर दबंगों को संरक्षण देने व हत्या कराने की साज़िश रचने जैसे गंभीर आरोप लगाए थे, जिसका विधायक अनिल जैन ने खंडन भी किया था। लेकिन एक बार फिर विधायक विवादों में घिर गए हैं। इस बार पत्रकार सुनील तिवारी हत्याकांड (journalist sunil tiwari murder) में वांछित आरोपियों के साथ विधायक अनिल जैन की अंतरंग तस्वीरें वायरल (photi viral) हो रही हैं, जिसके बाद हंगामा मच गया है।

पत्रकार हत्याकांड के मुख्य आरोपी अवधेश तिवारी (awdhesh tiwari) और उसके सहयोगी मोहित तिवारी (mohit tiwari) विधायक अनिल जैन के साथ इन तस्वीरों में दिखाई दे रहे हैं। उनके हाव भाव से ऐसा लगता है कि वह विधायक के बहुत पुराने परिचित हैं और ये तस्वीरें किसी निजी समारोह की हैं। इन तस्वीरों के वायरल होने के बाद से ही अब मामले में प्रदेश कांग्रेस (congress) ने भी मोर्चा खोल दिया। जैसे ही आरोपियों की तस्वीरें विधायक के साथ वायरल हुई तो कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता केके मिश्रा (kk mishra) ने अपना बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में पत्रकारों की हत्या को माफ नहीं किया जा सकता। अपराधी कितना भी प्रभावशाली क्यों न हो उसे हर हाल में जेल ही जाना चाहिए।

निवाड़ी जिले के पुतरी खेरा गांव में हुए पत्रकार सुनील तिवारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी अब तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सके हैं। निवाड़ी जिले के सेंदरी थाना अन्तर्गत आने वाले पुतरी खेरा निवासी पत्रकार सुनील तिवारी की पुतरी खेरा और पुछी करगुवा के बीच हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस द्वारा सात आरोपियों को नामजद किया गया था, जिनकी तलाश पुलिस द्वारा लगातार की जा रही है। यहां यह तथ्य उल्लेखनीय है कि मृतक सुनील तिवारी ने अपनी मृत्यु से पूर्व एक वीडियो वायरल किया था, जिसमें उसने अपनी हत्या की आशंका जताई थी। लेकिन तत्कालीन एसपी मुकेश श्रीवास्तव ने इस पूरे मामले में उचित गंभीरता नहीं दिखाई। हाल ही में निवाड़ी में पदस्थ हुई एसपी वाहिनी सिंह ने इस वीडियो के आधार पर कुछ लोगों पर गुंडा एक्ट लगाया था पर पत्रकार को सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई, जिसका परिणाम इस जघन्य हत्याकांड के रूप में सामने आया।

इनका कहना है
पत्रकार भाई सुनील तिवारी की हत्या की घटना की जानकारी के बाद मुझे बहुत गहरी पीड़ा हुई मै उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और उनके परिजनों के प्रति सांत्वना प्रकट करता हूं। घटना के दोषी आरोपी कोई भी हों किसी का भी संरक्षण हो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए।
बृजेंद्र सिंह राठौर
पूर्व मंत्री, मध्य प्रदेश शासन

पत्रकार की हत्या से मुझे गहरा दुख है, वह व्यक्ति दबंगों के अन्याय का शिकार हुआ है, जिन लोगों ने उसकी हत्या की है, वे पूर्व में भी हत्या के आरोपी रहे हैं और उनको मध्य प्रदेश की सरकार का संरक्षण हासिल है इसलिए उनके हौसले बुलंद हैं। मैं सरकार से मांग करता हूं कि पत्रकार के परिवार को मुआवजा दे और इस जघन्य हत्या के आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार करें।
दीपनारायण यादव
पूर्व विधायक, गरौठा एवं सपा नेता

दोनों पक्ष हमारे पास आते थे, इनका पुराना जमीनी विवाद था, जिसे मैंने कई बार निपटाने की कोशिश की लेकिन वह विवाद नहीं निपटा। ये जो घटना हुई है वह बहुत दुखद है। मै अभी भोपाल में हूं जैसे ही निवाड़ी पहुंचूंगा तो मृतक के घर जाऊंगा जो मदद होगी वो करूंगा। राजनीति में आरोप प्रत्यारोप लगना आम बात है।
अनिल जैन
भाजपा विधायक, निवाड़ी