टीकमगढ़ से भाजपा-कांग्रेस के ये नेता होंगें आमने-सामने, पार्टियां फिर जता सकती हैं भरोसा

These-leaders-of-BJP-Congress-from-Tikamgarh-will-face-a-face-to-face-face

टीकमगढ़।आमिर खान। 

लोकसभा चुनाव की निर्वाचन तैयारियों के साथ ही पार्टियां भी मैदान में हैं। भाजपा-कांग्रेस में इन दिनों प्रत्याशी चयन को लेकर काफी मसक्कत चल रही है। जंहा केंद्र में बैठी भाजपा अपने प्रत्याशी उतारने के लिए चयन प्रक्रिया में लगी हुई है, तो वहीं कांग्रेस में भी यही स्थिति देखने को मिल रही। फिलहाल भाजपा अभी अपने पत्ते नहीं खोल रही है, लेकिन कांग्रेस ने पहली सूची जारी कर अब दूसरी सूची जारी करने की तैयारी कर ली है। हो सकता कांग्रेस की दूसरी सूची इस सप्ताह के अंदर ही जारी हो जाये, जिसमें टीकमगढ़ लोकसभा सीट के प्रत्याशी का नाम भी सामने आ सकता है। कांग्रेस की इस सूची में लोकसभा प्रत्याशी के रूप में किसका नाम सामने आता है यह देखने वाली बात होगी, लेकिन इन दिनों पार्टी सूत्रों के हवाले से खबर यही है कि कंग्रेस एक बार फिर टीकमगढ़ लोकसभा सीट से कमलेश वर्मा को मैदान में उतार सकती है।

पिछले चुनाव में कमलेश वर्मा भाजपा के वीरेन्द्र खटीक से लगभग 2 लाख वोटों से हारे थे।इसलिए इनका टीकमगढ़ के लोकल नेता विरोध भी कर रहे हैं। वहीं भाजपा फिर से केंद्र में मंत्री बने बैठे वीरेंद्र कुमार खटीक को मैदान में उतार सकती है। माना यही जा रहा है कि यह दोनों प्रत्याशी इस बार फिर चुनावी मैदान में होंगे। बरहाल दोनों पार्टियों में दावेदारों की संख्या भी अधिक है। भाजपा में जिला पंचायत अध्यक्ष पर्वत लाल अहिरवार, गोपाल राय, रमेश प्रजापति, गोकुल प्रजापति टिकिट मांग रहे हैं, तो वहीं कांग्रेस में भी सूची बड़ी लंबी है, जिनमें शशि कर्णावत, किरण अहिरवार, अरविंद खटीक, संजय कसगर अपनी दावेदारी कर रहे हैं। सूत्र यह भी बता रहे हैं कि अगर भाजपा वीरेंद्र खटीक को मैदान में उतारती है तो कांग्रेस भाजपा के किसी व्यक्ति को कांग्रेस में शामिल कराकर टिकिट दे सकती है, जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष पर्वत लाल अहिरवार का नाम सामने आया है, क्योंकि टिकिट को लेकर वह मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मुलाकात कर चुके हैं। बताया जा रहा कि उन्हें वंहा से सिग्नल भी मिला है।