पत्रकार का अपहरण कर, गुप्तांग में पहुंचाई चोट, गंभीर हालत में सड़क पर फेंका, पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

पुलिस ने 2 घंटे बीत जाने के बाद भी एफआईआर दर्ज क्यों नहीं की।

टीकमगढ़,आमिर खान। मध्यप्रदेश में पत्रकारों पर अत्याचार व उत्पीड़न की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। सीधी में पत्रकार कनिष्क तिवारी का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि टीकमगढ़ (Tikamgarh) में आज दोपहर 3.30 बजे 25 से 30 गुंडों ने पत्रकारों के चार पहिया वाहन को रोककर जानलेवा हमला कर दिया। इतना ही नहीं इस घटना में एक पत्रकार का तो अपहरण कर उससे लूटपाट की गई, और फिर उसके गुप्तांग से मारपीट की और उसे पलेरा के पास स्थित एक ढावा के पास गंभीर हालत में फेंककर चले गए।

यह भी पढ़े…मध्यप्रदेश के भोपाल-नागपुर हाईवे पर अंग्रेजों के जमाने का पुल गिरा- मार्ग डायवर्ट

दरअसल पूरा मामला टीकमगढ़ जिले के पलेरा थाना अंतर्गत आने वाले बूदौर का है। यहां पत्रकार रूपेश जैन, परशुराम प्रभाकर, डीपी राजपूत, लोकेंद्र सिंह व नीरज देशमुख बूदौर गांव से अवैध शराब बिक्री की खबर कवरेज करके वापस टीकमगढ़ आ रहे थे, तभी रास्ते में बूदौर पलेरा मार्ग पर दो बुलेरो वाहन आए और पत्रकारों के वाहन के आगे लगाकर उनसे गाली गलौज करने लगे।

यह भी पढ़े…छिन्दवाड़ा: रामनवमी जुलूस में हुआ बड़ा हादसा, आग की चपेट में आने से 6 लोग घायल

घटना का जब पत्रकारों ने विरोध किया तो वाहन में से उतरे लगभग 20 से 25 लोगों ने मारपीट करना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं वाहन को चारों से घेरकर पत्रकारों से बारी बारी मारपीट की और वाहन को ड्राइव कर रहे पत्रकार रूपेश जैन को फिल्म चढ़े बुलैरो वाहन में बैठाया और अपहरण कर ले गए। रूपेश को वाहन में बैठकर शिवम मिश्रा, जितेंद्र मिश्रा जो की 302 के मामले में फरार है, अंशुल तिवारी, नैनी जैन व मोनू ठाकुर ने जमकर मारपीट की।

यह भी पढ़े…3.6 करोड़ राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर, फर्जी कार्डो पर लगेगी रोक, पात्र को मिलेगा लाभ, शुरू होगी व्यवस्था

रूपेश के मोबाइल, सोने की चैन, पैसे भी लूट लिए गए। पत्रकार रूपेश के गुप्तांग में भी दर्दनाक मारपीट की। पूरे मामले को लेकर जिले भर के पत्रकारों में रोष है। अब तक शिकायत के आधार पर पुलिस ने किसी भी आरोपी के विरुद्ध मामला दर्ज नहीं किया है जबकि मामले को निपटाने में पुलिस लगी है। टीकमगढ़ से लगे निवाड़ी जिले में आज मुख्यमंत्री पहुंच रहे हैं, जहां सारे पत्रकार इस घटना से मुख्यमंत्री को ओरछा में अवगत कराएंगे और दोषियों पर कार्यवाही की मांग करेंगे। यहां सवाल यह है कि पुलिस ने कई घंटे बीत जाने के बाद भी एफआईआर दर्ज की।

पलेरा थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम बूदौर में आज दोपहर पत्रकार रूपेश जैन व अन्य पत्रकारों से मारपीट मामले में पुलिस ने तीन लोगों पर नाम दर्ज और तीन अन्य के खिलाफ अपहरण व मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है।

पत्रकार का अपहरण कर, गुप्तांग में पहुंचाई चोट, गंभीर हालत में सड़क पर फेंका, पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

थाना प्रभारी मुकेश शाक्य ने बताया आज दोपहर रूपेश जैन ने थाने में आकर शिकायत दर्ज कराई थी कि वह अपने पत्रकार साथियों के साथ बूदौर से खबर बनाकर वापस लौट रहे थे तभी रास्ते में जितेंद्र, नैमी जैन और मोनू ठाकुर व उनके अन्य साथियों ने मारपीट कर उनका अपहरण किया, जिसके आधार पर पुलिस ने धारा 341,365,293,323,506, 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।