ये कैसी पुलिस: सुबह डंडो की बरसात, शाम को सरेआम लॉक डाउन का उल्लंघन

टीकमगढ़।आमिर खान।

देश इन दिनों कोरोना जैसे वायरस से लड़ने के लिए जद्दोजहद कर रहा है। ऐसे में डॉक्टर, पुलिस की अहम जिम्मेदारी है कि वह बखूबी अपने काम को पूरी ईमानदारी से कर लोगों को इस वायरस से बचाने का काम करें। ऐसे में टीकमगढ़ शहर में पुलिस की दोहरी नीती देखने को मिल रही है। यहां सुबह से पुलिस आम जनता पर लॉक डाउन का पालन न करने के लिए उन पर डंडे बरसा रही है। इसके बाद स्वयं उसी पुलिस महकमे के एक अधिकारी शाम होते ही अपनी संगीत की महफ़िल सजा रहे हैं। इतना ही नहीं इस महफ़िल में लॉक डाउन का खुला उल्लंघन किया जा रहा। इस संगीत की महफ़िल में सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा की जा रही है।

इस कठिन परिस्थिति में टीकमगढ़ पुलिस एसडीओपी सुरेश शेजवाल की यह संगीतमय महफ़िल कितनी सही है इसका जवाब या तो वह स्वयं दे सकते हैं या फिर उनके वरिष्ठ अधिकारी। इस समय जहां मध्य प्रदेश के डीजीपी ने हर एक जिले के एसपी को लॉक डाउन का पूर्ण पालन कराने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में टीकमगढ़ पुलिस एसडीओपी की यह हरकत कितनी सही मानी जानी चाहिए, जो अपने सबसे बड़ी अधिकारी के आदेश की अवहेलना करने में लगे हैं। फिलहाल इन महोदय की चालाकी तो उस समय देखी जाती है जब यह ये कहते नजर आते हैं कि हम दिन भर काम करने के बाद अपनी थकान और मानसिक तनाव दूर करने के लिए संगीत का सहारा लेते हैं, अगर ऐसा है तो फिर क्या सुबह से किसी काम के लिए निकले आम जनमानस पर लाठियां बरसाना कितना उचित है। इसके साथ ही यहां देखने वाली बात यह भी है कि एसडीओपी टीकमगढ़ ने पुलिस कप्तान को भी भ्रमित कर उनके सामने देशभक्ति गीत गाकर उन्हें इंफ्रेश करने का काम करते हैं, लेकिन जैसे ही पुलिस कप्तान अपने बंगले में पहुंच जाते हैं, एसडीओपी महोदय सीधे लोगों को मुहल्ले में इकट्ठा कर लॉक डाउन का खुला उल्लंघन कराते हैं। फिलहाल इस सारे मामले में अब भाजपा संगठन के लोगों ने सीएम से शिकायत कर दी है। अब देखना यह होगा कि आखिर इनके गायिकी का सिलसिला कब तो तक चलता है या फिर अब यहीं पर विराम लगता है। इस मामले को लेकर भाजपा विधायकों में भी नाराजगी देखी जा रही है।

इनका कहना है
इस समय पूरा देश एक बड़ी मेहनत कर कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से लड़ने में लगा है। ऐसे में सभी वर्गों के लोगों को लॉक डाउन का पालन करना चाहिए इसी में भलाई है। लोगों की भीड़ किसी सार्वजनिक स्थल पर एकत्रित करना उचित बात नहीं यह बहुत ही गंभीर विषय है। टीकमगढ़ विधानसभा की जनता हमारे लिए सर्वोपरि है अगर कोई उनकी जान के साथ खिलवाड़ करेगा, तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा चाहे कोई भी हो।
राकेश गिरी, टीकमगढ़ विधायक
टीकमगढ़, विधानसभा

मैं इस विषय पर तत्काल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से बात करूंगा। वैसे भी मुख्यमंत्री शिवराज जी पुलिस की सराहना कर रहे हैं, ऐसे में इस तरह का कृत्य उचित नहीं है लॉक डाउन का पालन हर एक वर्ग को करना पड़ेगा। टीकमगढ़ एसडीओपी द्वारा किए जा रहे इस लोक डाउन के उल्लंघन को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्हें ये बात सोचकर ही ऐसा करना चाहिए कि इससे लोगों की जान को खतरा है। क्योंकि फेसबुक लाइव लोगों की हकीकत उजागर करता है। इस मामले के चर्चे भोपाल तक है।
हरिशंकर खटीक, भाजपा विधायक
जतारा, विधानसभा