Tokyo Olympics: उम्मीदों को लगे पंख, राज्य महिला एकेडमी की लड़कियों ने बढ़ाया मान

अब पूरे देश की निगाहें सेमीफाइनल मैच पर लगी हैं लोगों को उम्मीद है कि इस बार भारतीय महिला हॉकी टीम का सफर गोल्ड पर ही जकर थमेगा।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ओलंपिक के इतिहास में पहली बार भारतीय महिला हॉकी टीम (indian women hockey team) ने सेमीफाइनल में जगह बनाई है। पूरे देश के लिए ये गर्व की बात तो है ही साथ ही ये मध्यप्रदेश (MP)के लिए बहुत गौरव की बात है। क्योंकि सेमीफाइनल में जगह बनाने में मध्यप्रदेश राज्य महिला हॉकी एकेडमी (MP state women hockey academy) की लड़कियों की भूमिका महत्वपूर्ण है। राज्य महिला हॉकी एकेडमी की लड़कियों के खेल से प्रभावित होकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM shivraj singh chauhan)ने खिलाड़ियों और खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhara raje scindia) को बधाई दी है। अब सबकी निगाहें सेमीफाइनल मैच की तरफ है।

टोक्यो ओलंपिक खेलने गई भारत की महिला हॉकी टीम में मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व भी शामिल है। मध्यप्रदेश से इसमें 5 खिलाड़ी शामिल हैं। इसमें साई सेंटर भोपाल से निकली वंदना कटारिया भी शामिल है। वंदना ने हैट्रिक कर जो इतिहास रचा है उसकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं हैं।

मध्यप्रदेश से ये पांच खिलाड़ी हैं शामिल

मध्यप्रदेश राज्य महिला हॉकी एकेडमी के चीफ कोच परमजीत सिंह के मुताबिक टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा ले रही भारतीय महिला हॉकी टीम में मध्यप्रदेश की तरफ से सुशीला चानू, रीना खोखर, मोनिका मलिक, वंदना कटारिया और रजनी शामिल हैं। इसमें वंदना साई सेंटर भोपाल की खिलाड़ी है और शेष चारों मध्यप्रदेश राज्य महिला हॉकी एकेडमी की खिलाड़ी हैं जो यहाँ खेल कर बड़ी हुई हैं।  भारतीय टीम में रजनी को रिजर्व गोलकीपर की हैसियत से टीम में शामिल किया गया है।

ये भी पढ़ें – Tokyo Olympics : महिला हॉकी टीम की जीत पर बोली पूर्व राष्ट्रीय महिला हॉकी खिलाड़ी मधु यादव, आज देश के लिए सुनहरा दिन

हर मैच के बाद पूछती हैं मैं कैसा खेली

राज्य महिला हॉकी एकेडमी के मुख्य कोच परमजीत सिंह कहते हैं कि ओलंपिक में हैट्रिक लगाकर इतिहास बनाने वाली वंदना भी ग्वालियर से जुड़ी रही है। वो मध्यप्रदेश की टीम का हिस्सा रही है। उन्होंने कहा कि लड़कियां बहुत अच्छा खेल रही हैं । उनकी सबसे बात हो रही है। मैच के बाद सबसे पहले एक ही बात पूछती हैं सर मैं कैसा खेली? चीफ कोच परमजीत सिंह ने कहा कि मैंने उन्हें गेम पर फोकस रखने के लिए कहा है क्योंकि  देश को भारतीय महिला हॉकी से बहुत उम्मीदें हैं।

ये भी पढ़ें – Tokyo Olympics 2021: एक ही मुकाबले में 2 खिलाड़ियों ने जीता गोल्ड, जानें कैसे हुआ ये करिश्मा

ग्वालियर के लिए भी है गौरव की बात 

टोक्यो में भारतीय महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों के प्रदर्शन से इस समय पूरा देश खुश है. लेकिन ग्वालियर के लिए खास ख़ुशी का मौक़ा है क्योंकि ओलम्पिक में मध्यप्रदेश का मान बढ़ा रही खिलाड़ियों ने ग्वालियर में ही खेल की बारीकियां सीखकर ओलम्पिक तक का सफर तय किया है।  राज्य महिला हॉकी एकेडमी के चीफ कोच परमजीत सिंह कहते हैं कि एकेडमी की लड़कियों के प्रदर्शन का असर इस समय एकेडमी में ट्रेनिंग ले रही लड़कियों पर भी हो रहा है।  सब बहुत खुश हैं और गोल्ड मैडल की उम्मीद के साथ खुद को भी बभारत की टीम का हिस्सा बनाने का सपना देखने लगी हैं।

ये भी पढ़ें – बेहद तंगी के बावजूद अपनी मेहनत से रचा इतिहास, पिता के निधन पर घर भी नही जा पाई थी महिला हॉकी स्टार वंदना कटारिया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दी बधाई, खेल मंत्री मे दिया धन्यवाद

भारतीय महिला हॉकी टीम के प्रदर्शन और खासकर मध्यप्रदेश की लड़कियों के खेल से खुश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को बधाई दी हैं।  बदले में खेल मंत्री ने मुख्यमंत्री का आभार जताया है।

ये भी पढ़ें – भारतीय हॉकी टीम के सदस्य विवेक सागर को शिवराज ने किया फोन, कही ये बड़ी बात