ABVP और NSUI कार्यकर्ताओं में झड़प, पथराव, TI लाइन अटैच, सांसद पुत्र समेत 18 पर केस दर्ज

A-clash-between-ABVP-and-NSUI-

उज्जैन।

प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी द्वारा महाविद्यालय और यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन पर बैन लगाने का मामला तूल पकड़ गया है। शनिवार को मंत्री के बयान के विरोध में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने माधव कॉलेज के बाहर मंत्री के पूतले फूंक दिए। खबर लगते ही एनएसयूआई  कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए और दोनों की बीच जमकर झड़प हो गई। दोनों तरफ से जमकर पत्थर चले और मारपीट की गई।मामले को शांत कराने पुलिस ने हल्का बल और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया।घटना बाद एसपी ने लापरवाही के चलते टीआई को लाइन अटैच कर दिया। वही सांसद प्रो. चिंतामणि मालवीय के पुत्र दुष्यंत मालवीय सहित एबीवीपी के 18 कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किया। अभी किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

दरअसल, प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने निर्देश दिए हैं कि अब महाविद्यालय और यूनिवर्सिटी में किसी प्रकार का कोई प्रदर्शन नहीं होगा। इस बात का विरोध करते हुए शनिवार को एबीवीपी के कार्यकर्ता माधव कॉलेज के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे। यहां एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के तीन पुतले फूंक दिए। इसकी खबर लगते ही एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं भी मौके पर पहुंच गए, जिसके बाद दोनों संगठनों के बीच पुतला जलाने को लेकर कहासुनी हुई। बात इतनी बढ़ी की दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को मारना-पीटना शुरु कर दिया और पत्थर फेंकने लगे। मौके पर पहुंची पुलिस ने पहले तो दोनों दलों को समझाइश दी और जब वे फिर भी नही माने तो उन्होंने हल्का बल प्रयोग कर वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। इस दौरान पुलिस पर भी सरंक्षण के आरोप लगे।

टीआई लाइन अटैच, सांसद पुत्र समेत 18 पर केस दर्ज

पूर्व विधायक डॉ. बटुकशंकर जोशी सहित कुछ कांग्रेस नेता भी घटना के बाद मौके पर पहुंचे। देर शाम कांग्रेस समर्थित छात्र नेताओं ने देवासगेट थाने पहुंचकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग को लेकर लिखित शिकायत की।  देवासगेट टीआई जेएस भास्कर पत्थरबाजी की घटना से इनकार करते रहे। घटना के तीन घंटे बाद एसपी ने देवासगेट टीआई भास्कर को लाइन अटैच कर दिया। पुलिस ने सांसद प्रो. चिंतामणि मालवीय के पुत्र दुष्यंत मालवीय सहित एबीवीपी के 18 कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किया। अभी किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। बताया जा रहा है कि पानी की बौछार और पत्थरबाजी से दो-तीन कार्यकर्ता मामूली रूप से घायल हुए हैं। वहीं पुलिस का कहना है कि अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बाइक पर जलाया पुतला

एबीवीपी कार्यकर्ता पुतला लेकर पहुंचे। तो छीना-छपटी में पुतला बिगड़ गया। इसके बाद कार्यकर्ता दूसरा पुतला लेकर पहुंचे, लेकिन यह भी पूरी तरह से नहीं जल पाया। इसके बाद एबीवीपी के कार्यकर्ता चामुण्डा माता मंदिर चौराहे से बाइक पर ही जलता हुआ पुतला लेकर पहुंचे। प्रदर्शन के दौरान एबीवीपी जिला संयोजक दुष्यंत मालवीय, हिमांशु रावल, शालिनी वर्मा आदि उपस्थित रहे।

दोनों तरफ से जमकर चले पत्थर

एनएसयूआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं की भिड़त में पहले एक अधजला पुतला हवा में इधर से उधर हुआ। इसके बाद एबीवीपी की तरफ से एक कार्यकर्ता ने चप्पल फेंक दी। इसके बाद जिसके हाथ जो लगा फेंकने में भिड़ गया। इसी बीच कुछ एनएसयूआई कार्यकर्ता कैम्पस में गए और पत्थर लेकर आए। जो फिर हवा में फेंके गए। घटना स्थल पर एनएसयूआई के कुछ कार्यकर्ता लाठी लेकर एबीवीपी की तरफ भी घुस गए।