Ujjain News – किसानों को लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान, देखें वीडियो

पटेल ने आगे कहा कि मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) कृषि मंत्री होने के नाते मेरी जिम्मेदारी है,कि किसानो को आपके माध्यम से कानून के बारे मैं बताऊँ , किसान गुमराह ना हो ।

कमल पटेल

उज्जैन, योगेश कुल्मी।15 दिसबंर से शिवराज सरकार (Shivraj Government) का दो दिवसीय किसान सम्मेलन (Farmers Sammelan) शुरु होने जा रहा है, इससे एक दिन पहले आज सोमवार को उज्जैन (Ujjain) पहुँचे कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान सामने आया है।पटेल ने कहा कि नए कृषि विधेयकों के आने के बाद किसानों की आय 2 गुना, 4 गुना, 6 गुना होगी और किसान आत्मनिर्भर होगा तो कांग्रेस (Congress) सहित सभी विपक्षी दल जो मोदी जी का विरोध कर रहे हैं,वे किसानों को मुंह दिखाने के लायक नहीं रहेंगे इसीलिए किसानों को भड़का रहे हैं।

कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) ने आगे कहा कि  आंदोलन (Farmer Protest) करने वाले किसान(Farmers) दलाल, देशद्रोही, विदेशी शक्तियों पर पलने वाले किसान सांप, बिछु, नेवले,कुकुरमत्ते की तरह अचानक पनपे 500 किसान संगठन है।। यह जनता और किसानों के बीच जाने लायक नहीं रहेंगे। इनका राजनीतिक अस्तित्व खत्म हो जाएगा और इसीलिए जैसे कि बाढ़ आती है और बाढ़ में जब पानी बहुत ज्यादा हो जाता है तो सांप, बिछु, गोयरा, नेवला जितने भी तरह के लोग है, एक पेड़ पर चढ़ने लगते है और जान बचाने के लिए एक साथ एकत्रित होने लगते है, इसी प्रकार देश भर में विकास की और मोदी जी (PM Narendra Modi) बाढ़ आई हुई है, सारा विपक्ष उसमे बह रहा है सब एकत्रित हो गए और विरोध कर रहे है,देश को गुमराह कर रहे है ।

यह भी पढ़े…किसानों के हित में कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान, शुरू किया अभियान

पटेल ने आगे कहा कि मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) कृषि मंत्री होने के नाते मेरी जिम्मेदारी है,कि किसानो को आपके माध्यम से कानून के बारे मैं बताऊँ , किसान गुमराह ना हो और इसलिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के मप्र व केंद्र के नेतृत्व ने तय किया है कि इस कृषि कानून 2020 (Farm Bill 2020) के बारे में जागरूकता लाएंगे, जन जागरण अभियान के मध्याम से किसान को बताएंगे की किसान संगठन किस प्रकार कुकुरमत्ते की तरह उठ रहा है।

यह भी पढ़े…किसान आंदोलन- MP के किसानों पर शिवराज सरकार का फोकस, बनाया यह मेगा प्लान

पटेल ने कहा कि 500 किसान संगठन ये अभी अभी बना लिए गए ये किसान संगठन नही है, दलालों के संगठन है, ये विरोधियों के देश द्रोहियों के संघठन है जो विदेशी शक्तियां देश को मजबूत ना होने देना चाहती है, उनके पैसो पर पलने वाले ये संगठन है और ये स्पष्ठ है इनका पर्दाफाश हम करके रहैंगे मैं बताना चाहता कि कानून क्या है।