मरने से पहले बीजेपी पार्षद ने की कलेक्टर से गुहार, न साबुन न मास्क कैसे होगा इलाज, देखिये वीडियो

उज्जैन

उज्जैन जिले में बीजेपी पार्षद मुजफ्फर हुसैन के कोरोना से जंग हारने के बाद उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो आइसोलेशन वार्ड की बदइंतजामियों के बारे में बता रहे हैं। इस वीडियो में उन्होने कहा है कि जनप्रतिनिधि होने के नाते मैं शासन प्रशासन और अधिकारियों से़ गुजारिश करना चाहता हूं कि आरडी गार्डी मेडिकल कालेज में न तो साबुन है, न मास्क है, न पानी है और न ही बाथरूम में लाइट है। उन्होने कहा है कि यहां न सेनेटाइजर है न ही बाथरूम में सफाई है, ऐसे कैसे चलेगा।

मरहूम पार्षद मुजफ्फर हुसैन ने अपने आखिरी वीडियो में कलेक्टर से गुजारिश की है कि वो साफ सफाई और इंतजामों पर ध्यान दे। साथ ही खाने को लेकर भी उन्होने कहा कि खाने की मात्रा अधिक है और वो वेस्ट हो रहा है। उन्होने बार बार गुजारिश की कि कलेक्टर एक बार वहां विजिट कर वहां की व्यवस्थाओं का जायज़ा लें। इसी के साथ उन्होने वहां योग करवाने की अनुमति भी मांगी थी। इस वीडियो में उन्होने उम्मीद जताई थी कि वो जल्द ही वापस लौटेंगे लेकिन अफसोस कि ऐसा हो न सका।

बता दें कि रविवार देर शाम पार्षद पार्षद हुसैन का निधन हो गया। बताया जा रहा है कि हुसैन गरीबों में राहत सामग्री बांटने के दौरान संक्रमित हो गए थे और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली।  इंदौर और भोपाल के बाद कोरोना का सबसे घातक कहर उज्जैन में देखने को मिल रहा है। यहां अब तक कुल शहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 160 पहुंच गई है और 32 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इसी बीच उज्जैन में रविवार को बीजेपी पार्षद सहित 2 लोगो की मौत हो चुकी है। भाजपा पार्षद 55 वर्षीय मुजफ्फर हुसैन निवासी तोपखाना वार्ड में गरीब लोगों को राशन वितरण के दौरान संक्रमित हुए थे। 24 अप्रैल को तबीयत खराब होने पर उन्हें माधव नगर अस्पताल में लिया था। जहां से उन्हें मेडिकल कॉलेज शिफ्ट किया था। जहाँ रविवार को उनकी मौत हो गयी।