रामायण सर्किट ट्रेन के वेटरों को संतो की वेशभूषा पहनाने पर विवाद संतो ने ट्रेन रोकने की धमकी दी , रेल मंत्री को लिखा पत्र

डेस्क रिपोर्ट। हाल ही में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गयी रामायण सर्किट ट्रेन को लेकर अब विवाद शुरू हो गया है। विवाद संतो की वेशभूषा को लेकर उठा है, सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो में ट्रेन के अंदर काम करने वाले वेटर संतो की वेशभूषा में दिखाई दे रहे है जिसको लेकर उज्जैन में रहने वाले संतो ने कड़ी आपत्ति जताई है और रेल मंत्री को पत्र लिख कर विरोध भी दर्ज कराया है 12 दिसंबर को शुरू होने वाली अगली ट्रेन को रोकने की बात कही है।

VIDEO VIRAL: Instagram के लिए दोस्त बना रहा था वीडियो, पीछे से आ गई ट्रेन, मौत

अयोध्या, चित्रकूट समेत भगवान राम से जुड़े धार्मिक स्थलों की यात्रा कराने के उद्देश्य से शुरू की गई भारतीय रेलवे ने IRCTC के माध्यम से रामायण एक्सप्रेस ट्रेन शुरू की है। धार्मिक यात्रा से जुडी इस ट्रेन में श्रद्धालुओं को खाना ट्रेन के अंदर ही सर्व किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल एक विडियो में कुछ लोग साधु की वेशभूषा में नजर आ रहे हैं जो की खाना परोस रहे है। जिन्हें लेकर दावा किया जा रहा है कि ये रामायण सर्किट ट्रेन का वीडियो है और ये सभी ट्रेन के वेटर हैं जो इस लुक में यात्रियों को खाना-पानी सर्व कर रहे हैं, संतो ने इस वीडियो में दिख रहे वेटरो की वेश भूषा पर सवाल खड़े किये है, परमहंस अखाडा परिषद् के पर्व महामंत्री अवधेश पूरी ने अप्पत्ति लेते हुए कहा की संतो की वेश भूषा वेटरो को पहनाई गयी है जो की साधू समाज का अपमान है जल्द ही इसकी वेशभूषा को बदला जाए वरना 12 दिस को निकलने वाली ट्रेन का संत समाज विरोध करेगा और ट्रेन के सामने हजारो हिन्दूओ को लेकर प्रदर्शन करेंगे। वीडियो सामने आने के बाद मेने रेल मंत्री को पत्र लिखा। रेलवे ने करोड़ो हिन्दू की आस्था को ठेस पहुचायी है।