उज्जैन।

 पुलिस-प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने पर कुछ लोगों का गुस्सा इस कदर फूटा की उन्होंने  मंगलनाथ के दर्शन करने पहुंचे नगरीय प्रशासन मंत्री जयर्वधन सिंह का काफिला रोक लिया।उन्होंने मंत्री के समक्ष नाराजगी जाहिर करते हुए कार्रवाई को गलत बताया। मंत्री ने जब उन्होंने समझाया तब जाकर उन्होंने रास्ता छोड़ा। इस दौरान काफी देर तक वहां जाम लगा रहा।

दरअसल, मंगलवार को ऑपरेशन क्लीन के तहत निगम की टीम पुलिस-प्रशासन के साथ गोयला खुर्द स्थित हाउसिंग बोर्ड की जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी।जिसका वहां रह रहे लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए उन्हें वहां से हटाया और फिर मकानों को जमींदोज करने की कार्रवाई शुरू की। इस दौरान मंगलनाथ के दर्शन पहुंचे मंत्री जयर्वधन सिंह विरोध कर रहे लोगों के गुस्से का शिकार हो गए और उन्होंने उनका काफिला रोक दिया। उन्होंने मंत्री के समक्ष नाराजगी जाहिर करते हुए कार्रवाई को गलत बताया। इस पर मंत्री ने लोगों ने समझाइश की और मामले को देखने की बात कहकर जैसे तैसे वहां से काफिले के साथ रवाना हो गया।

बताया जा रहा है कि हाउसिंग बोर्ड की इस जमीन की कीमत 400 करोड़ से अधिक की कीमत की है, जिस पर अवैध निर्माण कर लिए गए थे। इससे पहले कोनगर निगम के अमले ने सोमवार इंदौर-उज्जैन हाईवे पर श्रीराम विहार कॉलोनी के अवैध निर्माण तोड़े थे।