महाकाल मंदिर में महिला श्रद्धालु की साड़ी में लगी आग, बुरी तरह झुलसी

महाकाल मंदिर में जयपुर से दर्शन करने आई एक महिला श्रद्धालु आग की चपेट में आ गई और बुरी तरह झुलस गई।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) के महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshwar Temple) से हैरान कर देने वाली जानकारी सामने आ रही है। यहां पर एक महिला श्रद्धालु आगजनी का शिकार हो गई है। महिला मंदिर में दर्शन करने के लिए पहुंची थी और परिसर में स्थित शिव मंदिर में लगे दीपक से महिला की साड़ी के पल्लू में आग लग गई और वह बुरी तरह झुलस गई। सूचना मिलते ही महिला को एंबुलेंस के जरिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया है जहां उसका उपचार किया जा रहा है।

यह महिला राजस्थान के जयपुर से 6 अन्य लोगों के साथ दर्शन करने के लिए मंदिर पहुंची थी। बाबा महाकाल के दर्शन करने के बाद महिला ऊपर परिसर में स्थित ओंकारेश्वर मंदिर के पीछे स्थित त्रिविष्टेश्वर महादेव के दर्शन कर रही थी। यहां परिसर में जल रहे दीपक से महिला की साड़ी के पल्लू ने आग पकड़ ली। महिला की साड़ी में आग लगते देख वहां मौजूद पुजारी ने तुरंत ही आग बुझाने की कोशिश की और भद्रकाली मंदिर से कंबल लाकर महिला को ओढ़ाया गया। आग लगने से घबराई महिला इधर उधर भाग रही थी। जिसके चलते आग तेजी से बढ़ गई और महिला के हाथ पैर बुरी तरह झुलस गए। आग पर काबू पाने के बाद मंदिर समिति ने एंबुलेंस को सूचना दी और महिला को अस्पताल भेजा। डॉक्टरों का कहना है कि महिला की स्थिति ठीक है उसके हाथ पैर झुलसे है।

Must Read- देवास में तैयार की गई बांस की ब्लेड से डेनमार्क में बनेगी पवन ऊर्जा, 40 साल तक नहीं होगी खराब

महाकालेश्वर मंदिर में जिस स्थान पर महिला के साथ यह घटना हुई है वह मार्ग काफी संकरा है और यहां पर स्थित छोटे-छोटे शिवलिंग पर अक्सर ही श्रद्धालु दीपक लगा देते हैं। वहीं महाकाल मंदिर में हुई इस घटना ने एक बार फिर यहां श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के इंतजामों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। आज हुई घटना के दौरान आग बुझाने वाले उपकरण मंदिर में मौजूद नहीं थे। मौके पर मौजूद लोगों ने अपनी सूझबूझ के हिसाब से आग बुझाने का प्रयास किया। ये विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में सुरक्षा को लेकर एक बड़ी चूक है।