उज्जैन, योगेश कुल्मी| पारिवारिक कलह के चलते पति ने आत्महत्या (Suicide) कर ली| जिसके बाद पत्नी ने भी जहर खा कर अपनी जान दे दी| मामला मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) जिले के कायथा थाना क्षेत्र के आसेर गांव का है। पति पत्नी द्वारा ख़ुदकुशी करने का मामला सामने आने के बाद इलाके में सनसनी फेल गई| पुलिस (Police) ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। प्रारंभिक जांच में पति-पत्नी में आपसी कलह सामने आ रही है।

मामला उज्जैन से 30 किलोमीटर दूर स्थित आसेर गांव का है। यहां गांव के बाहर खेत में जितेंद्र का मकान है, जहां वह पत्नी सुनीता के साथ रहता था। जितेंद्र के पिता मनोहर सिंह गांव में ही अलग रहते हैं। शुक्रवार की देर रात को जितेंद्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसके कुछ देर बाद पत्नी सुनीता ने भी जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई|

बताया जा रहा है कि शुक्रवार की देर रात को करीब आठ बजे दूधवाला जितेंद्र के घर दूध देने गया था।जब उसने आवाज लगाईं और किसी ने जवाब नहीं दिया तो वो अंदर गया| जहां उसने देखा कि जितेंद्र फांसी के फंदे पर लटका हुआ है और कमरे में ही सुनीता तड़पती हुई स्थिति में थी| दूधवाले ने शोर मचाया तो गांव के लोग मौके पर पहुंचे| सुनीता को अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई| बताया गया कि जितेंद्र की शादी पांच साल पहले सुनीता से हुई थी। दोनों के बच्चे नहीं हैं। सुनीता का अपने सास-ससुर से अनबन रहती थी। आए दिन झगड़े होते थे। यही कारण था कि जितेंद्र अपने माता-पिता से अलग रहता था। पुलिस को मामला पारिवारिक कलह के कारण आत्महत्या करने का मामला लग रहा है|