उज्जैन/अर्पण कुमार

उज्जैन में एक के बाद एक लगातार कोरोना पॉजिटिव लोगों की मौत का दुखद सिलसिला जारी है। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि उज्जैन जिले में 5 लोगों में से 4 महिलाएं जान गंवा चुकी है ।

अब तक जिले में 13 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। चौंकाने वाली बात तो यह है कि 12 में से 5 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे भी दुखद बात यह है कि सभी 5 लोगों की मौत के बाद ही उनकी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट सामने आई है। सबसे पहले बात की जाए तो राबिया बी निवासी जांसापुरा की मौत हुई थी। इसके बाद संतोष वर्मा निवासी अंबर कालोनी  का मामला सामने आया, तीसरे नंबर पर लक्ष्मीबाई निवासी दानीगेट की मौत हो गई जबकि रामप्रसाद भार्गव मार्ग निवासी सलमा बी के बाद अब कोट मोहल्ला निवासी नसीम बी की भी कोरोना से मौत की खबर आ रही है। जिला प्रशासन ने उन सभी इलाकों को पूरी तरह लॉक कर दिया है जहां कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ रहे है। उज्जैन के बेगम बाग इलाके में लगातार मनाही के बावजूद सीएए एनआरपी को लेकर विरोध के दौरान भारी भीड़ एकत्रित की जा रही थी। बेगम बाग का धरना स्थल और कोट मोहल्ला नजदीक है। इसके अलावा बीच में खबर आई थी कि राबिया बी भी धरना प्रदर्शन में शामिल हुई थी। नसीम बी को लेकर भी ऐसी ही कुछ बातें सामने आ रही है।

जिला प्रशासन पुख्ता तौर पर जानकारी जुटाने में लगा हुआ है। अगर कोरोना का बेगमबाग के धरने से कोई कनेक्शन निकलता है तो यह बेहद गंभीर बात होगी। गौरतलब है कि धरने में उज्जैन ही नहीं बल्कि आसपास के इलाकों के लोगों ने भी हिस्सा लिया था। अब जिला प्रशासन और पुलिस विभाग जाँच में जुटा हुआ है। शक की सुई इसलिए भी मजबूती से  बेगमबाग के आसपास घूम रही है क्योंकि राबिया भी और नसीम बी की कोई ऐसी हिस्ट्री का पता नहीं चल सका है जिसकी वजह से उनके कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आ सके। दोनों की ही विदेश जाने की भी कोई हिस्ट्री नहीं है। इसके अलावा और किसी के संपर्क में आने का भी कोई पता अभी तक नहीं चल पाया है। हालांकि इलाके के लोगों का कहना है कि नसीम बी भी प्रदर्शन में शामिल नहीं हुई थी। इस मामले में जिला प्रशासन के बड़े अधिकारियों का कहना है कि महिला के इंदौर जाने की बात सामने आई है अभी और टूर हिस्ट्री का पता लगाया जा रहा है।

11 साल का लड़का भी पाजिटिव
कोट मोहल्ले में रहने वाला 11 साल का लड़का भी कोरोना पॉजिटिव आया है। उसे अन्य लोगों के साथ-साथ आर्डी गार्डी मेडिकल कॉलेज में उपचार दिया जा रहा है। अभी राबीया बी के परिजनों की आज एक सैंपल भेजा है और दूसरा सैंपल कल भेजा जाएगा । अगर दोनों रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो उन्हें छुट्टी दे दी जाएगी। दूसरी तरफ कोट मोहल्ला क्षेत्र में दूसरा मामला सामने आने के बाद कई सवालों सवाल उठना शुरू हो गए है।

उज्जैन में 11 साल का लड़का भी कोरोना पॉजिटिव, 13 तक पहुँचा आंकड़ा