मंत्री बोले, ‘राहुल गांधी अड़ियल स्वभाव के, डर है बिखराव न हो’

minister-said

उज्जैन। 

राहुल गाँधी द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दिए जाने के बाद से ही कांग्रेस में उथल पुथल है। सभी नेता अभी भी राहुल गांधी को मनाने की कोशिश में जुटे हैं। इस बीच उज्जैन पहुंचे कमलनाथ सरकार में केबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा की जुबान पत्रकारों से बात करते हुए उस समय फिसल गई, जब पत्रकारों ने उनसे राहुल गाँधी के इस्तीफे को लेकर सवाल कर दिया।  

मंत्री सज्जन सिंह वर्मा गुरूवार को उज्जैन के इस्कॉन मंदिर में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा में शामिल होने आए थे। इसी दौरान उन्होंने  राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि वे अड़ियल स्वभाव के हैं। उनका कोई रिप्लेशमेंट चेहरा नहीं हो सकता। मुझे तो बिखराव का डर है। मेरा मानना है कि नेहरू गांधी परिवार को अलग हटाकर कांग्रेस पार्टी की बात करना मिथ्या है। वर्मा ने कहा कि इस निर्णय से कहीं बिखराव ना हो जाए, इस बात का मुझे डर है। मैं तो यही कहना चाहूंगा कि अध्यक्ष राहुल गांधी जी ही रहें, लेकिन वे अड़ियल स्वभाव के हैं। उनका कोई रिप्लेशमेंट तो हो नहीं सकता। इकसे बावूजद ऐसा चेहरा लाकर दें जो पार्टी को एकजुट रख सके।

बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद राहुल गांधी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। उसके बाद कांग्रेस के दिग्गज नेताओं और वर्किंग कमेटी के नेताओ द्वारा उन्हें बहुत मनाने की कोशिश की गई। लेकिन राहुल नहीं माने और बुधवार को सोशल मीडिया में ट्वीट करते हुए 4 पन्नों को खुला पत्र जारी कर इस्तीफे की बात उजागर कर दी।  उन्होंने कहा कि अब वे कांग्रेस के अध्यक्ष नहीं है। वर्किंग कमेटी के सदयों को जल्द ही अपना अध्यक्ष चुन लेना चाहिए।