उज्जैन में मिला 5 महीने पहले UP से गुम हुआ युवक, पिता ने बाबा महाकाल से मांगी थी मन्नत

उत्तर प्रदेश से 5 महीने पहले लापता हुआ एक युवक उज्जैन के सेवाधाम आश्रम में मिला। पिता उसे लेकर अपने घर के लिए रवाना हो गए हैं।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) से एक हैरान कर देने वाली और अनोखी खबर सामने आई है। इसे बाबा महाकाल का चमत्कार कहें या फिर भक्त की आस्था, दोनों ही सूरत में यह खबर अच्छी है। यहां पर उत्तर प्रदेश के कासगंज से 5 महीने पहले लापता हुआ मानसिक रूप से कमजोर युवक अपने पिता को वापस मिल गया। हैरानी की बात तो यह है कि पिता ने अपने खोए हुए बेटे को वापस पाने के लिए बाबा महाकाल से मन्नत मांगी थी।

जानकारी के मुताबिक 17 वर्षीय पंकज उत्तर प्रदेश के रामसिंहपुरा सोरो जिला कासगंज का रहने वाला है। वह मानसिक रूप से कमजोर है। 6 भाई बहनों में वह सबसे बड़ा है और उसके पिता श्रीकृष्ण मजदूरी करते हैं। तकरीबन 5 महीने पहले वह अचानक ही अपने घर से गायब हो गया। परिवार ने पूरे गांव और आसपास के जिलों में उसे बहुत खोजा लेकिन वह कहीं नहीं मिला।

Must Read- Bhopal: ज्वेलरी शॉप के 7 ताले तोड़ लाखों का सामान ले उड़े चोर, जांच में जुटी पुलिस

अपने बेटे को ढूंढ ढूंढ कर परेशान हुए पिता ने महाकाल दर्शन की मन्नत मांग कर अपने बेटे के मिल जाने की दुआ की। बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे पिता को यह विश्वास भी नहीं था कि उन्हें उनका बेटा यहीं मिल जाएगा। लेकिन 5 महीने से वो जिस बेटे की तलाश कर रहे थे वह उन्हें सही सलामत मिल गया। जानकारी के मुताबिक युवक के पिता जिस खेत में काम करते हैं उसके मालिक पवन समाधिया को युवक के गुम जाने की जानकारी थी और वही श्रीकृष्ण को अपने साथ उज्जैन लेकर आए थे।

समाधिया अक्सर उज्जैन आते जाते रहते हैं और वह यह बात जानते हैं कि यहां स्थित सेवाधाम आश्रम में बेसहारा लोगों को रखा जाता है। लापता युवक के पिता को उज्जैन लेकर आए समाधिया ने सोचा कि एक बार आश्रम में जाकर युवक के बारे में जानकारी ले लेते हैं। इसके बाद यह सभी आश्रम पहुंचकर संस्थापक सुधीर भाई गोयल से मिले और युवक के बारे में जानकारी ली। युवक का फोटो देखते ही उन्होंने बताया कि वह पिछले 3 महीने से इसी आश्रम में है।

Must Read- Ujjain: चोरी का आरोप लगाकर युवक को दी गई तालिबानी सजा, डर के मारे घर छोड़कर भागा पीड़ित

अपने बेटे के इसी आश्रम में होने की बात सुनकर पिता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और उन्होंने आश्रम संस्थापक को अपने बेटे को सुरक्षित रखने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद दिया और साथ ही यह भी कहा कि बाबा महाकाल ने उन्हें बेटे से मिलाने के लिए ही उज्जैन बुलाया था। इसके बाद पिता अपने बेटे को लेकर उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हो गए।

जानकारी के मुताबिक पंकज जुलाई 2022 में उज्जैन की हीरा मिल की चाल रोड पर दयनीय अवस्था में मिला था। इसके बाद चाइल्ड लाइन ने देवास गेट पुलिस को इसकी सूचना दी थी। यहां से बाल कल्याण समिति के माध्यम से उसे सेवाधाम आश्रम पहुंचाया गया। काफी मशक्कत के बाद युवक अपना नाम बता पाया था और उत्तर प्रदेश का निवासी होने की जानकारी दी थी। उसने यह भी बताया था कि वह ट्रेन में सवार हुआ था और नीचे गिर पड़ा था, उज्जैन कैसे आया इस बारे में उसे कुछ भी नहीं पता है। इसके बाद से उसे आश्रम में ही रख लिया गया था, लेकिन अब उसे अपने पिता के सुपुर्द कर दिया गया है।