Nepal PM At Mahakal: महाकाल के चरणों में ‘प्रचंड’ का नमन, अनूठे तरीके से हुआ स्वागत

nepal pm

Nepal PM At Mahakal: नेपाल के मुख्यमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड बाबा महाकाल के दर्शन के लिए उज्जैन पहुंचे। वो सुबह 11 बजे विमान से इंदौर एयरपोर्ट पहुंचे। जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत तुलसी सिलावट और अन्य नेताओं ने उनका स्वागत किया। यहां से वो उज्जैन पहुंचे जहां उन्होंने बाबा महाकाल के चरणों में अपना शीश नवाया। पीएम यहां अपनी बेटी गंगा दहल के साथ पहुंचे हैं।

Nepal PM At Mahakal

प्रधानमंत्री प्रचंड ने ई-कार्ट में बैठकर महाकाल लोक का अवलोकन किया और यहां पर सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए विशेष इंतजाम किए गए हैं। चप्पे चप्पे पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है और किसी को भी बिना अनुमति के प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।

दहल तकरीबन 1 घंटा देरी से उज्जैन पहुंचे। जहां महाकाल लोक के नंदी द्वारा पर राज्यपाल ने उनका भव्य तरीके से स्वागत किया और पुष्प गुच्छ भेंट किया। इस दौरान उन्होंने बाबा महाकाल को अपने साथ नेपाल से लाए हुए रुद्राक्ष और 51000 भेंट स्वरूप अर्पित किए।

दहल करीब 40 मिनट तक महाकाल मंदिर के परिसर में रहे और इस दौरान मंदिर समिति द्वारा उनका सम्मान भी किया गया। इस दौरान राज्यपाल समेत मंत्री मोहन यादव, सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक पारस जैन, महापौर मुकेश टटवाल मौजूद रहे।

 

Nepal PM At Mahakal

इंदौर से सड़क मार्ग से उज्जैन पहुंचे प्रचंड का नंदी द्वार पर राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने स्वागत किया और इस दौरान वेद पार्टी बटुक स्वस्तिवाचन करते हुए दिखाई दिए। इसी के साथ महाकाल लोक में भस्म रमैया भक्त मंडल के सदस्य डमरू, झांझ और शंख की मंगल ध्वनि से नेपाली प्रधानमंत्री का स्वागत करते दिखाई दिए।

प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए हरी फाटक ब्रिज चौराहा से लेकर महाकाल लोक तक पूरा मार्ग रंग बिरंगे ध्वजों से सजाया गया है और यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कटआउट भी लगे हुए हैं।

वीवीआईपी प्रोटोकॉल के तहत सुरक्षा को देखते हुए विशेष इंतजाम किए गए हैं और पूरे मंदिर परिसर को विशेष तौर पर सजाया गया है। नंदी द्वारा से लगाकर नंदी हॉल और गर्भगृह फूलों से सजा हुआ दिखाई दिया। प्रचंड को भारतीय धर्म, संस्कृति और परंपरा का दीदार कराया जा सके इसके लिए मंगलवाद्य वादन की व्यवस्था भी की गई है।

 

Nepal PM At Mahakal

बदली गई शहर की यातायात व्यवस्था

नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल आज उज्जैन के दौरे पर रहने वाले हैं। पीछे दो दिनों से उनके आगमन की तैयारी की जा रही है और बीते दिनों होटल और लॉज में सर्चिंग अभियान भी चलाया गया। शुक्रवार को प्रधानमंत्री के आगमन के चलते इंदौर रोड का यातायात पूरी तरह से प्रभावित रहने वाला है। इसी के साथ अन्य मार्गो की व्यवस्था में भी बदलाव किया गया है।

नेपाल के प्रधानमंत्री इंदौर मार्ग से उज्जैन में प्रवेश करने वाले हैं और एसएसपी आकाश भूरिया के मुताबिक जब उनका आगमन उज्जैन में होगा तब इंदौर रोड पर एक साइड पूरी तरह से बंद रहेगी और दूसरी लेन पर आवागमन जारी रहेगा।

इंदौर रोड पर चलने वाले जितने भी भारी वाहन हैं, उन्हें देवास रोड की और डायवर्ट किया जाएगा। होटल और लॉज में सुरक्षा के चलते चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। महाकाल और देवास गेट थाना क्षेत्र में दो यात्रियों की जानकारी न देने पर होटल पर धारा 188 की कार्रवाई की गई है।

Ujjain के इन मार्गों पर जानें से बचे

जो भारी वाहन है, वो सैफी पंप के सामने से देवास रोड होते हुए इनर रिंग रोड पर निकल कर साडू माता की बावड़ी भैरवगढ़ की ओर जा सकते हैं।

नीलगंगा, भूखी माता, शंकराचार्य चौराहा, नानाखेड़ा, अर्पिता नगर टर्निंग और अभिषेक नगर जाने वाला मार्ग पूरी तरह से बंद रहने वाला है।

12 बजे वीवीआईपी आगमन के समय हरी फटक से इंदौर की ओर जाने वाला यातायात दाएं और से संचालित किया जाएगा।

1.30 बजे तक दर्शनार्थी प्रवेश बंद

पुष्प कमल दहल प्रचंड महाकालेश्वर मंदिर का दर्शन पूजन करने के लिए उज्जैन पहुंच रहे हैं। इसके लिए मंदिर में विशेष व्यवस्था तैयार की गई है और दर्शन व्यवस्था पूरी तरह से बदल दी गई है। जानकारी के मुताबिक प्रचंड पहले महाकाल लोक घूमते नजर आए। उसके बाद वो बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे।

प्रधानमंत्री के दर्शन मार्ग पर पूरी तरह से कड़ी सुरक्षा देखी गई और मंदिर परिसर में रेड कारपेट बिछाया गया है। दर्शन करने आने वाले श्रद्धालु हर सिद्धि चौराहा से बड़ा गणेश होते हुए चार नंबर गेट से प्रवेश कर विश्राम धाम और सभा मंडप होते हुए गणेश मंडपम के पांचवें बैरिकेड से बाबा महाकाल के दर्शन कर सकेंगे। दर्शन करने के बाद उन्हें इसी मार्ग से वापस करते हुए पांच नंबर गेट से बाहर निकाला जाएगा। शीघ्र दर्शन गर्भगृह दर्शन जैसी व्यवस्थाएं इस दौरान बंद रही।

राज्यपाल के कार्यक्रम

नेपाल के प्रधानमंत्री का मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगू भाई पटेल स्वागत करने वाले हैं। वो विक्रम कीर्ति मंदिर और विक्रम विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती हॉल में आयोजित दो कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए उज्जैन आएंगे। सुबह 9 बजे वो उज्जैन पहुंचेंगे, 9:45 पर विक्रम कीर्ति मंदिर में उद्यमिता जागरूकता कार्यक्रम में शामिल होने के बाद 11:15 पर महाकाल मंदिर पहुंचेंगे और नेपाली पीएम की अगवानी करेंगे। इसके पश्चात दोपहर 12:30 बजे विक्रम विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती हॉल में आयोजित तेलंगाना राज्य के स्थापना दिवस कार्यक्रम में भी भाग लेंगे।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News