अतिक्रमण हटाने गई टीम पर हमला, लोगों ने बरसाए पत्थर, गाड़ियों में तोड़फोड़

उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन में अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस व नगर निगम की टीम पर लोगों ने हमला कर दिया। रहवासियों ने पथराव किया और नानाखेड़ा टीआई की पुलिस मोबाइल वैन, निगम की चार जेसीबी सहित 12 वाहनों में तोड़फोड़ कर दी। पुलिस ने स्थिति पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज किया।

जानकारी के मुताबिक नानाखेड़ा थाना क्षेत्र में इंदौर-उज्जैन फोरलेन पर त्रिवेणी ब्रिज के पास सेतु निगम की जमीन पर अवैध रूप से बने मकानों को तोड़ने के लिए बुधवार को पुलिस दल व नगर निगम की टीम पहुंची थी। उसी दौरान रहवासियों ने पथराव करते हुए हमला कर दिया। पुलिस ने स्थिति पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज किया। पथराव में नानाखेड़ा टीआई को ईंट लगी, हालांकि जैकेट पहने होने से उन्हें चोट नहीं आई। देरशाम तक अमले ने सभी 103 मकानों को जमींदोज कर दिया। 

हाईकोर्ट के आदेश पर सेतु निगम की जमीन पर बने मकानों को तोड़ने की कार्रवाई की गई है, निगम अमले ने मकान तोड़ना शुरू किए तो रहवासियों ने यह कहते हुए विरोध शुरू कर दिया कि हम लोग अपने मकान खुद तोड़ रहे हैं तो जेसीबी से क्यों तोड़ रहे हैं ? अधिकारियों ने मोहलत से इनकार करते हुए मकानों को जेसीबी से तोड़ना शुरू कर दिया। 19 मकानों को तोड़े जाने के बाद लोगों ने शाम 4 बजे निगम अमले पर पथराव शुरू कर दिया। उन्होंने जेसीबी में तोड़फोड़ की। इंदौर रोड पर नानाखेड़ा टीआई मनीष मिश्रा की पुलिस मोबाइल वैन पर 30-40 लोगों ने पथराव किया, जिससे वाहन के कांच फूट गए। वाहन में कोई सवार नहीं था। रहवासियों ने नगर निगम की तीन अन्य जेसीबी, निगम गैंग के वाहन व पांच आम वाहनों में भी पथराव और तोड़फोड़ कर दी। इससे भगदड़ मच गई। हमले की सूचना मिलने पर पांच थानों का बल पहुंचा और लाठीचार्ज व आंसू गैस के गोले छोड़कर लोगों को तितर-बितर किया। पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ा है।