Mahakal Lok की खूबसूरती में दाग लगा रहे लोग, टूटे पत्थर, मूर्तियों को भी हो रहा नुकसान

विश्व प्रसिद्घ महाकालेश्वर मंदिर में बनाए गए महाकाल लोक की खूबसूरती पर यहां आने वाले कुछ श्रद्धालु दाग लगाने की कोशिश कर रहे हैं। लगातार समझाइश के बाद भी मूर्तियों के स्टैंड पर चढ़कर भक्तों द्वारा फोटो खिंचवाना जारी है।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) में बनाए गए खूबसूरत महाकाल लोक (Mahakal Lok) को देखने के लिए लगातार लोगों का हुजूम उमड़ रहा है। लोकार्पण होने के बाद अब तक 50 लाख से ज्यादा भक्त यहां महाकाल लोक की खूबसूरती को निहारने के लिए आ चुके हैं। हर दिन यहां आने वाले भक्तों का आंकड़ा डेढ़ से 2 लाख तक पहुंच रहा है। लेकिन इन भक्तों में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो यहां की खूबसूरती को खराब करने में लगे हुए हैं. सेल्फी लेने के चक्कर में यह लोग यहां बनाई गई मूर्तियों पर चढ़ रहे हैं और उन्हें नुकसान पहुंचा रहे हैं. कुछ जगहों पर लगे हुए पत्थर भी लोगों ने तोड़ दिए हैं.

11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाकाल लोक का लोकार्पण किया था। इसके बाद से श्रद्धालु उत्सुकता पूर्वक यहां पर पहुंच रहे हैं। लेकिन श्रद्धालुओं का यहां लगी प्रतिमा, स्तंभ और अन्य चीजों पर चढ़कर फोटो लेने का जुनून इसकी खूबसूरती को बिगाड़ रहा है। यही नहीं कई जगह से फ्लोर उखड़ गया है और पानी पीने के लिए लगाए गए वाटर कूलर को भी तोड़ दिया गया है। पूरे परिसर की सुरक्षा के लिए एक कंट्रोल रूम बनाया गया था लेकिन इससे कोई भी फर्क नहीं पड़ा।

Must Read- Mandi Bhav: इंदौर में आज डॉलर चना के दाम में गिरावट, देखें 9 नवंबर 2022 का मंडी भाव

यहां आने वाले श्रद्धालुओं को बार-बार टोका भी जाता है, लेकिन फिर भी लोग मूर्ति के पास बैठकर फोटोग्राफी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। गार्ड उन्हें रोकने की कोशिश करता है तो वह वाद-विवाद करने लगते हैं। कुछ तो यहां बनी हुई मूर्तियों के पास आराम फरमाते दिखाई दे रहे हैं। 900 मीटर लंबे कॉरिडोर पर कई जगह गार्ड है लेकिन श्रद्धालु उन्हीं के सामने परिसर की पवित्रता और खूबसूरती पर दाग लगा रहे हैं।

महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां की स्वच्छता और सुंदरता को बनाए रखने का आग्रह करते हुए श्रद्धालुओं से अशोभनीय व्यवहार नहीं करने की गुजारिश की थी। सीएम शिवराज ने कहा था कि यह घूमने फिरने की जगह नहीं है, बल्कि प्रेरणा लेने और अपने जीवन को धन्य करने वाली जगह है। इसके बावजूद भी लोगों का अशोभनीय व्यवहार इस परिसर के प्रति लगातार नजर आ रहा है।

Must Read- Indore : यूट्यूब पर ढूंढा दर्द का इलाज, अपनाते ही बिगड़ी तबीयत, मौत

इस मामले को लेकर महाकाल मंदिर के प्रशासक संदीप सोनी का कहना है कि यहां लाखों की संख्या में श्रद्धालु रोज पहुंच रहे हैं। सभी पर निगाह रखने के लिए 350 कैमरा लगाए गए हैं और गार्ड भी तैनात हैं। श्रद्धालुओं को लगातार समझाइश दी जा रही है, जो भी परिसर की खूबसूरती को खराब करने की कोशिश करेगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।