जहरीली शराब तस्करों का नेटवर्क तोड़ेगी पुलिस, बैठक में हुए अहम फैसले

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन-इंदौर संभाग में अब पुलिस शराब तस्करों का नेटवर्क तोड़ेगी। डीजीपी के निर्देश के बाद उज्जैन व इंदौर आइजी ने समन्वयक बैठक आयोजित की। बैठक में एडीजी उज्जैन योगेश देशमुख, इंदौर आइजी हरिनारायण चारी मिश्र सहित उज्जैन, शाजापुर, रतलाम, खंडवा, खरगोन व इंदौर के एसपी मौजूद थे। बैठक में तय किया गया है कि दोनों संभाग के अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर शराब तस्करों का नेटवर्क तोड़ेंगे तथा कार्रवाई की जाएगी। शराब तस्करों पर नकेल लगाने के लिए सभी जिलों में लिकर सेल बनाई जाएगी। जिसमें शराब तस्करों की पूरी जानकारी दर्ज रहेगी।

विवादों में आरटीओ बैरियर, ट्रक चालक के साथ मारपीट, पुलिस ने आवेदन लेकर टाला

एडीजी योगेश देशमुख ने बताया कि उज्जैन व इंदौर संभाग में बीते कुछ महीनों में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद अब जहरीली शराब बनाने वालों पर कार्रवाई करने की योजना बनाई जा रही है। गुरुवार को एडीजी देशमुख के देवास रोड स्थित कार्यालय में समन्वय बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में इंदौर आइजी हरिनारायण चारी मिश्र, उज्जैन एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला, इंदौर के दोनों क्षेत्रों के एसपी, खंड़वा, खरगोन, शाजापुर, रतलाम एसपी मौजूद थे। बैठक में खासतौर पर अवैध व जहरीली शराब तस्करों का नेटवर्क तोड़ने, सूचनाओं का आदान-प्रदान करने सहित अन्य मुद्दों पर बात की गई।

प्रत्येक जिले में बनेगी लिकर सेल
एडीजी देशमुख के अनुसार इंदौर व उज्जैन संभाग के सभी जिलों में लिकर सेल बनाई जाएगी। सेल में जिलों के सभी शराब तस्करों की पूरी जानकारी रहेगी जिसमें तस्करों के नाम-पते, कितने सालों से वह तस्करी से जुड़े है, किस प्रकार की शराब बनाते है या लाकर बेचते है। किन केमिकल का उपयोग होता है। कितने अपराध दर्ज है। बदमाशों के कौन-कौन रिश्तेदार है, कौन उनकी गाड़यां चलाता है, किन-किन लोगों से वह मिलते है यह जानकारियां पुलिस के पास रहेगी। इसके अलावा इंदौर-उज्जैन आइजी कार्यालयों में लिकर सेल को कोर्डिनेट करने के लिए सेल बनाया जाएगा। जहां संभाग के सभी जिलों के शराब तस्करों की जानकारी रहेगी।