MP में ‘मिलावटखोरों’ पर शिकंजा, पहली बार रासुका की कार्रवाई, जेल भेजा

screws-on-the-adulterers-in-MP--first-time-rasuka-imposed-on-accused-in-ujjain

उज्जैन| मध्य प्रदेश में बड़े पैमाने पर सिंथेटिक दूध और उससे बने खाद्य पदार्थों की लगातार हो रही धरपकड़ के बीच पहली बार मिलावटखोरों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई करते हुए आरोपी को जेल भेजा गया है| खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री का खुलासा किया तो वहीं उज्जैन कलेक्टर शशांक मिश्रा ने सेहत से खिलवाड़ करने वाले आरोपी कीर्ति केलकर पर रासुका की कार्रवाई की है। उसे इंदौर जेल भेजा गया है। बता दें कि मिलावटखोरी के खिलाफ सरकार ने कड़ा रुख अपनाया है| प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने मिलावटखोरों के खिलाफ रासुका लगाकर जिलाबदर की कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए हैं।

मंगलवार को खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने बहादुरगंज स्थित केलकर परिसर में छापा मारकर बड़ी मात्रा में नकली घी पकड़ा था। यहां आरोपी कीर्ति केलकर श्री कृष्णा गृह उद्योग के नाम से फैक्ट्री चला रहा था, जिसमें सोया तेल वनस्पति और एसेंस मिलाकर नकली घी बनाकर आसपास की छोटी दुकानों में खपाता था। 

फैक्टरी से रोज 30 किलो नकली देसी घी बनाया जा रहा था। इसे शहर की छोटी किराना दुकानों और आसपास के गांवों की दुकानों पर खपा रहे थे। यहां ये फैक्टरी 2006 से चल रही है। प्रशासन ने पहले भी कार्रवाई की थी, लेकिन नियम की लचरता के चलते जुर्माना देकर छूट गए और फिर वापस मिलावट का कारोबार शुरू कर दिया।  लेकिन अब रासुका की कार्रवाई की गई है| वहीं कलेक्टर शशांक मिश्र ने कड़ी कार्रवाई निरंतर जारी रखने के निर्देश दिए हैं| उन्होंने बैठक में अधिकारियाें से कहा है कि खाद्य पदार्थाें में मिलावट करने वालाें के खिलाफ कार्रवाई लगातार जारी रखी जाए। इसे अभियान के रूप में लिया जाए। मिलावट करने वाले कोई भी हाें, उन्हें किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाए।