उज्जैन: आगजनी में महिलाओं की हुई मौत के बाद परिजनों ने किया चक्काजाम, रखी ये मांग

उज्जैन की पोहा फैक्ट्री में बीते दिन तीन महिलाओं की मौत के बाद परिजनों ने चक्का जाम कर दिया।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। बीते दिन उज्जैन (Ujjain) के नागझिरी थाना क्षेत्र स्थित उद्योगपुरी में एक पोहा फैक्ट्री में भीषण आग लग गई थी। इस आगजनी की घटना में तीन महिलाओं की मौत हो गई थी और कई घायल हो गए थे। घटना में मृतक महिलाओं के शव का पोस्टमार्टम कर शव परिवार को सौंप दिए गए हैं। मृतक महिलाओं के परिजनों ने अब आर्थिक सहायता की मांग और फैक्ट्री मालिक पर कार्रवाई करने की बात को लेकर नागझिरी चौराहा पर सड़क पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। काफी देर तक यहां गहमागहमी की स्थिति बनी रही।

नागझिरी चौराहा पर किए गए चक्काजाम को देखते हुए अधिकारी तुरंत ही व्यवस्था संभालने के लिए पहुंचे और परिजनों के लिए 2-2 लाख की आर्थिक सहायता की घोषणा करते हुए, मुख्यमंत्री राहत कोष से भी मदद दिलाने का आश्वासन दिया है। एसडीएम जगदीश मेहरे और सीएसपी विनोद मीणा की समझाइश के बाद परिजनों ने चक्काजाम खोला।

नागझिरी चौराहा पर अचानक हुए इस चक्काजाम की वजह से उज्जैन देवास रोड पर आधे घंटे तक जाम लगा रहा। स्कूल बस सहित यात्री बस और दो पहिया तथा चार पहिया वाहन चालक एक के पीछे एक लंबी लाइन में खड़े दिखाई दिए। कई लोग इस जाम के चलते परेशान भी हो रहे थे।

बता दें कि बीते दिन नागझिरी के उद्योगपुरी में स्थित बिंदल प्रोसेस पोहा फैक्ट्री में आगजनी की घटना हो गई थी। इस हादसे में 3 महिलाओं की तो मौत हो गई थी और एक गंभीर घायल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना में ज्योति, क्षमा और दुर्गा नाम की तीन महिलाओं की मौत हुई है और सीमा नाम की महिला जो गंभीर रूप से झुलस गई है उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस, फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई थी और आग पर काबू पाते हुए तत्काल तीनों मृतकों के शव और घायल महिला को अस्पताल पहुंचाया गया था।