गबन के आरोप में गिरफ्तार उज्जैन केंद्रीय जेल की अधीक्षक ऊषा राज निलंबित, आदेश जारी

Ujjain Central Jail Superintendent Usha Raj suspended : केंद्रीय जेल उज्जैन में हुए करोड़ों रुपये के गबन में आरोप में गिरफ्तार जेल अधीक्षक ऊषा राज को गिरफ़्तारी के दो दिन बाद आज विभाग ने निलंबित कर दिया है। महानिदेशक जेल अरविन्द कुमार की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि निलंबन अवधि में ऊषा राज का मुख्यालय जेल मुख्यालय भोपाल होगा।

गबन के आरोप में गिरफ्तार उज्जैन केंद्रीय जेल की अधीक्षक ऊषा राज निलंबित, आदेश जारी

केंद्रीय जेल उज्जैन में कर्मचारियों के बैंक खातों में ट्रांसफर होने वाली राशि में हुए करीब 15 करोड़ के गबन के बाद से विभाग में खलबली मची हुई है, जेल की अकाउंट शाखा के प्रभारी रिपुदमन सिंह ने कर्मचारियों के बैंक खातों में ट्रांसफर होने वाली सरकारी राशि कूटरचित दस्तावेजों की मदद से दूसरे बैंक खातों में जमा कर दी और करोड़ों का गोलमाल कर दिया, मामला उजागर होने के बाद  उज्जैन पुलिस ने 11 मार्च को भेरुगढ़ थाने में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया।

बनारस भाग गया था मुख्य आरोपी जेल सिपाही 

पुलिस ने इस मामले में जेल अधीक्षक ऊषा राज को भी आरोपी बनाया और दोनों अभियुक्तों को 25 मार्च को गिरफ्तार कर लिया, रिपुदमन सिंह को तो उज्जैन पुलिस बनारस से पकड़ कर लाई, आपको बता दें कि गबन का खुलासा होते ही मुख्य आरोपी जेल सिपाही एवं जेल के अकाउंट विभाग का प्रभारी रिपुदमन परिवार सहित भाग गया था। जिसके बाद एसपी उज्जैन सत्येंद्र शुक्ला ने आरोपी पर 5 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।

जेल महानिदेशक ने जारी किया निलंबन आदेश 

अब विभाग ने जेल अधीक्षक ऊषा राज को निलंबित कर दिया है, जेल महानिदेशक अरविन्द कुमार ने आज 27 मार्च को इस आशय का आदेश जारी किया, आदेश में निर्देश दिए गए हैं कि निलंबन अवधि में ऊषा राज का मुख्यालय जेल मुख्यालय भोपाल रहेगा।

गबन के आरोप में गिरफ्तार उज्जैन केंद्रीय जेल की अधीक्षक ऊषा राज निलंबित, आदेश जारी


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News