गणेश विसर्जन जुलूस पर दबंगों ने बरसाए पत्थर, आक्रोशित भीड़ ने किया थाने का घेराव

उज्जैन के भैरवगढ़ थाना क्षेत्र में दबंगों ने गणेश विसर्जन चल समारोह पर पत्थर बरसाए।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) के भैरवगढ़ थाना क्षेत्र में गणेश विसर्जन चल समारोह पर दबंगों द्वारा पत्थरबाजी करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि दबंगों ने अपने घर के सामने से जुलूस नहीं निकालने की बात पर जमकर विवाद किया और बिजली बंद कर घर की छत से ईंट और पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। पत्थरबाजी में 4 लोग घायल हो गए हैं, वहीं डीजे गाड़ी में भी तोड़फोड़ हुई है। घटना की शिकायत लेकर लोग भैरवगढ़ थाना पहुंचे और प्रकरण दर्ज कराया। शिकायत होने के बावजूद भी आरोपियों पर कार्रवाई नहीं होने से नाराज लोगों ने अजाक्स थाने पहुंचकर सीएसपी को आवेदन सौंपा है।

पूरी घटना उज्जैन के भैरवगढ़ थाना के अंतर्गत आने वाले गांव गोयला बुजुर्ग की है। यहां पर ग्रामीण गणेश विसर्जन का जुलूस निकाल रहे थे। कुछ ऊंची जाति के लोगों ने अनुसूचित जाति के लोगों को जुलूस नहीं निकालने को कहा और पत्थरबाजी कर दी। इसमें गांव के विनोद परिहार, बंटी धानक, राहुल परिहार और सुनील मकवाना घायल हो गए हैं। सुनील को गंभीर चोट आने की वजह से सिर में टांके लगाए गए हैं। दबंगों ने जुलूस के साथ चल रही डीजे गाड़ी में भी तोड़फोड़ की है।

Must Read- शराब की फ्री डिलीवरी के नाम पर ठग ने 200 लोगों को लगाया करोड़ों का चूना, गिरफ्त में आरोपी

घटना के बाद ग्रामीण भैरवगढ़ थाना पहुंचे और प्रकरण दर्ज करवाया। प्रकरण दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की, जिसके चलते ग्रामीण अजाक्स थाने पहुंचे और सीएसपी को अपनी शिकायत बताई। सीएसपी ने ग्रामीणों की बात सुनने के बाद भैरवगढ़ थाना टीआई को आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

अपने शिकायती आवेदन में गांव के अनुसूचित जाति के लोगों ने बताया है कि गांव में तेजाजी महाराज मंदिर और शीतला माता मंदिर में भगवान गणेश की स्थापना हुई थी। दोनों जगह से विसर्जन समारोह निकाला जा रहा था। इस दौरान दबंगों ने पथराव करते हुए जुलूस वहां से निकालने का विरोध किया। कहासुनी विवाद में बदल गई और दबंगों ने पत्थरबाजी करना शुरू कर दी और आसपास की लाइट भी बंद कर दी। पत्थरबाजी में भगवान गणेश की प्रतिमा भी खंडित हो गई है।

ग्रामीणों ने यह भी बताया है कि घटना की सूचना हंड्रेड डायल को दी गई थी। हंड्रेड डायल मौके पर पहुंची लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। उसके बाद थाने में भी सुनवाई नहीं की गई। जब गांव के सरपंच को इस बात की जानकारी लगी तो उन्होंने भी इन लोगों को बुरा भला कह कर वहां से जाने को कह दिया। अपने शिकायती आवेदन में ग्रामीणों ने अर्जुन चौधरी, शंकरलाल, नारायण चौधरी और सोहन पर पत्थरबाजी करने का आरोप लगाया है।