mahakal

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। विश्व प्रसिध्द महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshwar Temple) में माता की नवरात्रि के जैसे ही, शिवजी की भी शिव नवरात्रि मनाई जाती है। जिसे महाशिवरात्री (Mahashivratri) भी कहा जाता है। इस पर्व पर बड़ी संख्या में भक्त भगवान महाकाल (Mahakal) के दर्शन करने पहुंचते है। जिसको देखते हुए खाद्य विभाग (Food Department) ने कार्रवाई करते हुए महाकाल मंदिर के बाहर छोटे-बड़े रेटस्टोरेंट और दुकानों से जांच के लिए खाद्य सामग्री के सेंपल लिए। महाशिवरात्री पर दर्शन करने आने वाले भक्तों के स्वास्थ्य के साथ किसी तरह काल खिलवाड़ न हो इसलिए खाद्य विभाग की टीम लेबोरेटरी वाहन लेकर अलग-अलग होटल और रेस्टोरेंट पहुंची। यहां खाद्य सामग्री की जांच की गई और हाथों-हाथ रिपोर्ट देकर समझाइश भी दी गई।

यह भी पढ़ें:-MP Weather: मार्च में तापमान 43 डिग्री के पार, टूटा 10 साल का रिकॉर्ड

महाशिवरात्रि के पर्व पर 9 दिन तक भगवान महाकाल का अलग-अलग श्रृंगार किया जाता है। जिसे देखने के लिए और भगवान महाकाल से आशीर्वाद के लिए दूर-दूर से लोग उज्जैन पहुंचते हैं। ऐसे में भक्त महाकाल मंदिर के बाहर स्थित सैकड़ों रेस्टोरेंट पर चाय-नाश्ता और भोजन करते हैं। इसी को देखते हुए खाद्य विभाग की चलित लेबोरेटरी महाकाल मंदिर के बाहर पहुंची और कई रेस्टोरेंट से खाद्य पदार्थों के सेंपल लेकर जांच के बाद समझाइश दी गई।