murder

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। नागदा के ग्राम पालियाकलां में रहने वाले 15 वर्षीय किशोर रितेश गुजरवाडिया की अपहरण के बाद लाश मिली है। ये शुक्रवार शाम को लापता हुआ था जिसके बाद उसके पिता के पास एक लाख की फिरौती के लिए फोन आया था। पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी कि इसी दौरान उसका शव बरामद होने से इलाके में शोक की लहर दौड़ गई।

कोरोना से मौत के आंकड़ों पर एक बार फिर कमलनाथ ने सरकार को घेरा, उज्जैन का दिया हवाला

उज्जैन- अपहरण के बाद किशोर की हत्या, इलाके में सनसनी

शुक्रवार को फिरौती के फोन के बाद शनिवार को फोन पर परिजनों को कहा गया कि बिरलाग्राम बीसीसीआई स्कूल के पास बच्चे का शव पड़ा है। परिजनों ने जाकर देखा तो बच्चे का शव मिला जिसके बाद उन्होने नागदा पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने इस मामले में मृतक बच्चे के दो करीबी रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया है, लेकिन वो अभी आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कर रहे हैं। किशोर नागदा थाने के शिव कॉलोनी बेरछा रोड़ का रहने वाला था।  उसका शव मिलने के बाद मौके पर उज्जैन एस पी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने पहुँच कर घटनास्थल का मुआयना किया। एसपी ने बताया कि जल्द ही घटना को अंजाम देने वाले लोगो को पकड़ लिया जाएगा। बता दें कि शुक्रवार को किशोर शाम 7 बजे कराटे क्लास गया था और उसके बाद घर नहीं लौटा। रात को 8.30 बजे उसके पिता को अपहरणकर्ता ने फिरौती के लिए फोन किया और 1 लाख रुपये की मांग की। अपहरणकर्ताओं ने किशोर के फोन से ही उसके पिता को फोन किया था।