Mahakal Lok की 87 दुकानों को फ्रीहोल्ड कर बेचेगा निगम, इतनी रखी गई है कीमत

महाकालेश्वर मंदिर के नवनिर्मित महाकाल लोक की 87 दुकानों को बेचने की तैयारी नगर निगम ने कर ली है।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) में तैयार किए गए महाकाल लोक (Mahakal Lok) में स्मार्ट सिटी कंपनी ने 87 दुकानें तैयार की है। अब इन दुकानों को बेचने की तैयारी की जा रही है। फ्री होल्ड पद्धति से इन दुकानों को बेचने की बात सामने आई है। कीमत की बात करें तो 100 वर्ग फुट की एक दुकान की कीमत 14 लाख रुपए रखी गई है। इन दुकानों को बेचकर नगर निगम मालामाल होने वाला है। दुकानें बिकने से पहले इन्हें खरीदने के लिए दिए जाने वाले आवेदन फॉर्म से ही लगभग एक करोड़ की कमाई हो जाएगी।

इन दुकानों को ई-नगर पालिका पोर्टल के माध्यम से निविदा आमंत्रित करते हुए बेचा जाने वाला है। जो लोग हार फूल, पूजन प्रसाद, खाद्य और क्राफ्ट सामग्री बेचना चाहते हैं, वह यह दुकानें खरीद सकते हैं। लीज पर दिए जाने की जगह फ्री होल्ड पद्धति से दुकान बेचने की वजह निगम की आय को बढ़ाना है। पहले दुकानों को लगभग 30 साल की लीज पर दिया जाता था लेकिन इसमें किराया ना मिले और दुकान खाली करने में परेशानी आने जैसी चीजों का सामना करना पड़ता था। महाकाल लोक के प्रथम तल पर जो दुकानें बनी है वह रेस्टोरेंट के लिए दी जाएंगी। इसके अलावा जून 20 दुकानदारों को महाकाल मंदिर के पीछे से हटाया गया था। उन्हें निविदा में शामिल नहीं किया जाएगा और यहां पर बनी दुकानों में विस्थापित किया जाएगा।

Must Read- कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए आज होगी वोटिंग, सामने आया शशि थरूर का बड़ा बयान

बता दें कि महाकाल लोक में बनाई गई दुकानों को आवंटित करने में करीब 2 महीने का वक्त लगेगा। निविदा प्रक्रिया करवाने के बाद महापौर परिषद और नगर निगम परिषद की स्वीकृति मिलने के बाद ही दुकानें आवंटित की जाएंगी। जिस भवन में यह दुकानें बनाई गई है वह बहुत ही खूबसूरत है और यहां पर दीवारों में नक्काशी की गई है। दुकानों के सामने खूबसूरत रूद्र सागर तालाब स्थित है और हरे भरे पेड़ पौधों के बीच स्थापित भगवान शिव की मूर्तियां अनुपम नजारा पेश कर रही है। इस खूबसूरत महाकाल लोक में हर साल लगभग तीन करोड़ लोगों के आने की संभावना प्रशासन ने जताई है।