बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में मादा तेंदुआ की मौत, भूख से मरने की जताई जा रही आशंका

उमरिया (Umaria) स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व (Bandhavgarh Tiger Reserve) में एक मादा तेंदुआ (Female leopard) का संदिग्ध अवस्था में शव मिलने से हड़कंप मच गया।

उमरिया, बृजेश श्रीवास्तव। उमरिया (Umaria) स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व (Bandhavgarh Tiger Reserve) में एक मादा तेंदुआ (Female leopard) का संदिग्ध अवस्था में शव मिलने से हड़कंप मच गया। मादा तेंदुए की मौत की खबर जैसे ही वन परिक्षेत्र अधिकारीयों को लगी तो तत्काल प्रभाव से उनके द्वारा क्षेत्र को सील किया गया और अधिकारी द्वारा मामले की जांच की गई।

यह भी पढ़ें….बड़वाह : अज्ञात वाहन ने बाइक सवार को मारी टक्कर, युवक की हुई मौत

दरअसल बीट गार्ड (Beat Guard) पेट्रोलिंग के लिए निकला था, जहां पनपथा कोर परिक्षेत्र की हरदी बीट के कक्ष क्रमांक 468 में नौवाडोला में नाले के किनारे एक मादा तेंदुआ का शव पड़ा हुआ मिला। जिसके बाद वन रक्षक द्वारा मादा तेंदुआ के शव मिलने की खबर तुरंत वन परिक्षेत्र अधिकारी को दी गई। जिसके बाद मौके पर स्निफर डॉग (Sniffer dog) बैली को खोजबीन के लिए भेजा गया और घटनास्थल को सील किया गया। स्निफर डॉग द्वारा आसपास के क्षेत्र में जाकर देखा गया तो आसपास किसी मानव या अन्य बड़े हिंसक वन्य प्राणी के कोई प्रमाण नहीं मिले। वही मादा तेंदुआ का एक ऊपर और एक नीचे का कैनाइन (canine) टूटा हुआ था। और बाकी मादा तेंदुआ के सभी अंग, नाखून, दांत सुरक्षित पाए गए है। वही शव परीक्षण कर सारे सैंपल संरक्षित किए गए है। जिसके बाद निर्धारित एसओपी अनुसार मादा तेंदुआ के शव का अंतिम संस्कार किया गया।

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में मादा तेंदुआ की मौत, भूख से मरने की जताई जा रही आशंका

बतादें कि मृतक मादा तेंदुआ कि उम्र लगभग 9 से 10 वर्ष की होगी जिसका आंकलन पशु चिकित्सक किया गया। वही प्रथम दृष्टया से इस मामले को देखने पर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि मादा तेंदुआ की आयु अधिक होने से और शिकार न कर पाने के कारण भूख से तेंदुआ की मृत्यु हुई है।

यह भी पढ़ें….बिना मास्क पहने छात्र को चांटा मारने वाले SDM की शिकायत, कलेक्टर, CM को लिखा पत्र