Indore में आयोजित हुआ अनूठा पुस्तक मेला, किलो से मिल रही ज्ञान की किताबें

इंदौर (Indore) के सम्राट होटल में पुस्तक मेले का आयोजन किया गया है। ऐसे में हजारों लोग इस पुस्तक मेले में आ रहे हैं। ये मेला सुबह 10 बजे से शाम 9 बजे तक खुला रहता है। ये मेला 30 नवंबर तक चलेगा।

Indore

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर (Indore) में एक अनूठे पुस्तक मेले का आयोजन किया गया है। ये इंदौर के सम्राट होटल किया गया है जो 30 नवंबर तक रहेगा। इस मेले में हजारों लोग पसंदीदा पुस्तकों के लिए जा रहे हैं। ये मेला सुबह 10 बजे से रात 9 बजे तक चालू रहता है। खास बात ये है कि इस मेले में लोग ख्याति प्राप्त लेखकों के पुस्तको की मांग कर रहे हैं। यहां किलो के भाव में पुस्तक मिल रही है। सम्राट होटल एमजी रोड पर स्थित है।

अगर आप भी बुक लेने के इच्छुक है और लेखकों की बुक पढ़ना चाहते हैं तो इस पुस्तक मेले में जा कर अपने पसंद की बुक ले सकते हैं। यहां काफी लोग सुबह से रात तक बुक की प्रदर्शनी देखने के लिए आ रहे हैं। इंदौर में बुक के प्रेमी काफी ज्यादा है। आज भी आधुनिकता के इस युग में लोग बुक पढ़ना पसंद करते हैं। ऐसे में इतिहास, संस्कार, धर्म व साहित्य से लोग आज भी रूबरू हो रहे हैं।

Must Read : Indore: 13 साल के बच्चे के साथ दर्दनाक हादसा, ट्रक ने रौंदा, मौके पर मौत

हालांकि कुछ लोग अभी भी इससे वंचित रह जाते हैं लेकिन जो लोग पढ़ना लिखना पसंद करते हैं वह इस मेले का हिस्सा बन रहे हैं। ऐसे में किलो से लोग पुस्तक लेना पसंद कर रहे हैं हालांकि अगर कम किताबें लेना है तो उसके हिसाब से पैसे लगते हैं। डिजिटल युग में आज भी लोग पुस्तक के प्रेमी है। 5जी के ज़माने में कुछ लोग पुस्तक को देखना क्या पढ़ना तक पसंद नहीं करते हैं। क्योंकि लोगों के पास समय ही नहीं होता है कि वह फ्री बैठ कर पुस्तक पढ़े। लेकिन कुछ लोग मोबाइल चलाने के बजाए पुस्तक पढ़ना और लिखना पसंद करते हैं इसी वजह से आज भी साहित्य जीवित है।

Indore: हिंदी, अंग्रेजी के साथ अन्य भाषाओं की पुस्तक उपलब्ध –

आपको बता दे, इस पुस्तक मेले में हिंदी, अंग्रेजी के साथ अन्य भाषाओं में भी पुस्तक मिल रही है। इसको लेकर आयोजक शशि कुमार राय ने बताया है कि आयोजित इस पुस्तक प्रदर्शनी का उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों तक साहित्य पहुंचाना है। ताकि लोग मोबाइल से दूर रहे और साहित्य से जुड़े रहे। इसलिए इस प्रदर्शनी में हिंदी के साथ अंग्रेजी और मराठी पुस्तकों को भी रखा गया है।