भू माफिया की करतूत से परेशान पीड़ितों ने SP से लगाई मदद की गुहार, ये है आरोप

मामले पर पीड़ितों का आरोप है कि भू माफिया ने प्लाट देने का एग्रीमेंट करा कर अब उसकी रजिस्ट्री करने से मुकर गया है। उसने लोगों के करोड़ों रुपये भी हड़प लिये हैं।

जबलपुर, संदीप कुमार। एक तरफ मध्यप्रदेश सरकार (MP Government) भू माफियाओं (Land mafias) के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है तो वहीं दूसरी ओर भू माफिया अपनी ताकत के दम पर गरीबों को फर्जी जमीन बेचकर उनसे लाखों रुपए कमा रहे हैं। ताजा मामला जबलपुर (Jabalpur) से सामने आया जहां जमीन की पावर ऑफ अटॉर्नी व अन्य दस्तावेज दिखाकर भू माफिया ने करीब 200 लोगों से प्लाट देने का एग्रीमेंट करने के बाद उसकी रजिस्ट्री करने से मुकर गया और लोगों से लाखों रुपये हड़प लिये। वहीं जब पीड़ित लोग रजिस्ट्री करवाने की बात कहते हैं तो आरोपी डी.एम मंसूरी उन्हें धमकाकर भगा देता है। इस मामले को लेकर आज सोमवार को आरोपी डी.एम मंसूरी द्वारा पीड़ित सैकड़ों लोगों ने एसपी ऑफिस का घेराव किया और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा से शिकायत की।

ये भी पढ़ें- करोड़ों की सौगात: सीएम शिवराज बोले-MP में बनेंगे बिजली हब, खातों में राशि ट्रांसफर

जानकारी के अनुसार पीड़ितों ने एसपी को बताया कि डी.एम मंसूरी एक भूमाफिया है और उसने इंद्रप्रस्थ कॉलोनी में प्लाट देने के बहाने लोगों से करोड़ों रुपए हड़प लिए हैं। पीड़ितों ने अपनी शिकायत में यह भी बताया कि अधारताल खसरा नंबर 258/2 तहसील अधारताल में डी.एम मंसूरी प्लाट की बिक्री कर रहा था, जिसपर उसने प्लाट एरिया के हिसाब से रकम लेने के बाद एग्रीमेंट कर लिया, लेकिन इसके बाद वह किसी भी प्लाट की रजिस्ट्री नहीं कर रहा है। मंसूरी को लाखों रुपए की रकम दे चुके लोग जब भी उसके पास पहुंचते हैं तो वह झूठे आश्वासन देकर आगे की तारीख रजिस्ट्री के लिए निर्धारित कर देता है। वहीं अब मामले की शिकायत करने पहुंचे पीड़ितों ने एसपी से डीएम मंसूरी के खिलाफ धोखाधड़ी के तहत मामला दर्ज करने की गुहार लगाई है।

ये भी पढ़ें- मासूम बच्चे को लेकर ट्रक के नीचे लेट गई महिला, Video सोशल मीडिया पर वायरल, जानें मामला

इधर पीड़ितों की शिकायत सुनने के बाद एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने सभी को आश्वासन दिया है कि उनकी शिकायत की गंभीरता से जांच करवाई जाएगी और जांच में डीएम मंसूरी द्वारा किसी भी तरह का फर्जीवाड़ा करना पाया जाता है तो निश्चित रूप से उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि डीएम मंसूरी आदतन अपराधी है और उसके खिलाफ जमीन से जुड़े कई मामले पहले से ही शहर के अलग-अलग थानों में दर्ज हैं।