MP News : बीजेपी मंडल अध्यक्ष का रिश्वत लेते वीडियो हुआ वायरल! ये है मामला

MP News : कानड़ भाजपा मंडल अध्यक्ष पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया है। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वह रिश्वत लेते नजर आ रहे हैं।

MP News : कानड़ भाजपा मंडल अध्यक्ष पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया है। दरअसल, बंजारा समाज के एक युवक ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल रिश्वत लेते नजर आ रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये रिश्वत उन्होंने पुलिस के झमेले और ससुराल पक्ष के रुपए लौटाने के नाम पर ली। इसका पीड़ित युवक ने मंडल अध्यक्ष को पैसे देते हुए एक वीडियो बना लिया था। जिसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। आखिर क्या है इस मामले का सच?

दरअसल, सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद इस मामले को लेकर विवाद खड़ा हो गया। क्योंकि पीड़ित युवक ने मंडल अध्यक्ष के खिलाफ शपथ पत्र देने के साथ ही लिखित शिकायत भी की है और वीडियो भी शेयर की है। इस वजह से अब मंडल अध्यक्ष मुसीबतों में घिरे हुए है। अब इस मामले को लेकर जांच होने वाली है। इस मामले से भाजपा जिलाध्यक्ष भी बेखबर थे। उन्होंने अब जांच करवाने की बात कही है।

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित युवक का नाम अजय है। वह अरनीखेड़ा का रहने वाला है। युवक द्वारा जो शपथ पत्र जारी किया गया है उसमें बताया गया है कि उसकी पत्नी ने सुसाइड कर लिया था। ऐसे में मुझसे पुलिस के इस झमेले से बचने के लिए और ससुराल पक्ष को रुपए के विवाद के लिए पांच लाख की मांग की गई। जिसके बाद मैंने अजय ने मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल पहले एक लाख और 5 हजार रुपए दिए। उसके बाद उन्होंने मुझसे ससुराल पक्ष के चार लाख और 25 हजार रुपए की मांग की। पैसों की मांग लगातार की जा रही थी तो हमारा विवाद हो गया। इतना ही नहीं उन्होंने पहले दिए गए पैसों का भी कोई प्रूफ मुझे नहीं दिया।

MP News : बीजेपी मंडल अध्यक्ष का रिश्वत लेते वीडियो हुआ वायरल! ये है मामला MP News : बीजेपी मंडल अध्यक्ष का रिश्वत लेते वीडियो हुआ वायरल! ये है मामला MP News : बीजेपी मंडल अध्यक्ष का रिश्वत लेते वीडियो हुआ वायरल! ये है मामला

मंडल अध्यक्ष ने बताया –

इस मामले को लेकर बताया जा रहा है कि मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल का कहना है कि उन्हें फंसाया जा रहा है। वह युवक के लिए सामाजिक स्तर पर मदद कर रहे थे। आगे उन्होंने कहा की जो वायरल वीडियो सामने आई है उसमें जो रुपए का लेनदेन दिखाई दे रहा है वह किसी काम के लिए रिश्वत लेना नहीं था बल्कि ससुराल वालों को चुकाने वाले रुपए का था। लेकिन युवक ने आरोप लगाया है कि मैंने पैसों की मांग की है। मुझे तो मदद के बदले बदनाम कर दिया गया।