विदिशा में शुरू की गई अनूठी पहल, लाडली लक्ष्मी के नाम से पहचाने जाएंगे घर

विदिशा जिले के पलीता गांव में ग्रामीणों ने अपने घरों के नाम लाडली लक्ष्मी के नाम पर रखने की पहल की शुरुआत की है।

विदिशा, डेस्क रिपोर्ट। बीते दिनों की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की लाडली लक्ष्मियों के लिए बहुत सी घोषणा की है। इसके बाद अब विदिशा (Vidisha) में महिला बाल विकास विभाग की ओर से शानदार पहल देखी गई है। यहां पर अब हर घर की पहचान वहां की लाडली लक्ष्मी के नाम पर की जाएगी। अब किसी के भी घर का पता पुरुषों के नाम से नहीं बल्कि बेटियों के नाम से पहचाना जाएगा। इस अनूठी पहल की शुरुआत महिला बाल विकास विभाग की ओर से कुरवाई में की गई है।

इस गांव में तीन ऐसे परिवार हैं जिन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना से खुश होकर अपने घर के नाम अपनी बेटियों के नाम पर रखवाए हैं। इन सभी के घर के प्रवेश द्वार पर इनकी बेटियों का नाम लिखा हुआ है। ग्रामीण इस सराहनीय कदम से काफी खुश भी हैं।

Must Read- कल से शुरू होगी 5 दिवसीय Panchkoshi Yatra, श्रद्धालु तय करेंगे 75 किलोमीटर का सफर

महिला बाल विकास विभाग की शहरवासा क्षेत्र की सुपरवाइजर राजकुमारी लोधी के नेतृत्व में पलीता गांव में यह सराहनीय पहल शुरू की गई है। यहां पर रहने वाले वीर सिंह, हरि सिंह और राजाराम ने अपनी बेटियों आकृति, पलक और पूर्वी के नाम अपने घर के मुख्य द्वार पर लिखवाए हैं। उनकी इस पहल को देखकर गांव के अन्य ग्रामीण भी आगे आए हैं और अपने घर का नामकरण अपनी बेटियों के नाम पर किया है।