विदिशा।ममता पांडेय।

विदिशा दिसंबर 2019 में ग्यारसपुर जनपद के ग्राम चितरायन में प्रशासन ने बीजेपी नेता और पूर्व जनपद अध्यक्ष छत्रपाल शर्मा के अतिक्रमण से 69 बीघा शासकीय भूमि मुक्त करवाई थी और इनके रिश्तेदार संजय शर्मा से 15 बीघा जमीन मुक्त कराई थी, लेकिन कुछ ही दिन बाद छत्रपाल और उनके रिश्तेदारों ने अतिक्रमण मुक्त भूमि पर फिर से कब्जा कर लिया ।

इसकी शिकायत मिलने पर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने तहसीलदार को छत्रपाल शर्मा के खिलाफ सिविल जेल प्रकरण बनाने का आदेश दिया। नायब तहसीलदार हेमंत शर्मा ने मौके पर जाकर देखा की छत्रपाल आदि ने उक्त भूमि पर पुनः कब्जा किया है तो नायब तहसीलदार ने पंचनामा बनाकर सिविल जेल का प्रकरण तैयार करने हेतु प्रस्ताव ग्यारसपुर की एसडीएम आरती यादव को भेजा है।

छत्रपाल के अतिक्रमण से मुक्त 69 बीघा सरकारी भूमि का शासकीय मूल्य 2 करोड़ रूपया आका गया है संजय शर्मा के अतिक्रमण से मुक्त भूमि 15 बीघा का शासकीय मूल्य लगभग ₹4500000 आंका गया है।इस मामले में छत्रपाल शर्मा का कहना है मेरे खिलाफ झूठी शिकायत की गई है मैंने कोई अतिक्रमण नहीं किया है ना मैं नामे चित्रायण गांव गया हूं। हां फेंसिंग जरूर की गई है लेकिन वह मवेशियों से खेती की सुरक्षा रक्षा के लिए की गई है।