विदिशा में बने बाढ़ के हालात, नदी-नाले उफान पर, स्कूलों में की छुट्टी

विदिशा, ममता पांडे । मध्यप्रदेश में मानसून की सक्रियता ने भोपाल सहित आसपास के जिलों में नदी नालों को उफान पर ला दिया है, वही विदिशा शहर में बीती रात भारी वर्षा के बाद शहर में चारों तरफ पानी ही पानी हो गया। रात ढाई बजे से वर्षा शुरू हुई जो सुबह तक होती रही। जिसके चलते शहर की पॉश कॉलोनी से लेकर निचली बस्तियां और घरों में पानी भर गया है वही घरों में पानी भरने से लोगों ने रात भर जागकर घरों से पानी बाहर निकाला है। वही निचले इलाकों में हालात ज्यादा खराब है जिसके वजह से इन इलाकों में रहने वाले लोग सुरक्षित स्थान पर जा रहे है। शहर में बने जलभराव के इन हालातों को देखते हुए जिला कलेक्टर अपने अमले के साथ शहर में निकले हैं लेकिन सड़कों पर भारी जलभराव के कारण वह भी हर जगह नहीं पहुंच पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें… राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू 15 को भोपाल आएगी, सांसद-विधायकों से करेंगी मुलाकात

विदिशा में  कुछ घंटों में ही 200 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इस भारी बारिश से शहर की कई बस्तियां जलमग्न हो गई कई निचले इलाकों में घरों में 3 से 4 फीट तक पानी भर गया। भारी वर्षा के कारण विदिशा शहर के आसपास के नदी नाले उफान पर आ गए है, भारी बारिश को देखते हुए कलेक्टर ने स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव अमले के साथ जलभराव वाले इलाकों में पहुंचे है, उन्होंने बंटी नगर अहमदपुर चौराहा सहित कुछ इलाकों का दौरा किया जहां लोगों के भारी गुस्से का सामना भी उन्हें करना पड़ा। शहर के रामलीला रोड, खरी फाटक रोड, बंटी नगर अंडर ब्रिज के पास, तलैया, बांस कुली, रीठा फाटक सहित अन्य कई इलाकों में 3 से 4 फ़ीट तक पानी भर गया। हरिपुरा क्षेत्र में एक ऑटो पानी में बह गया। वहीं घरों के आगे रखे वाहन पूरी तरह पानी में डूब गए। बताया जा रहा है कि रविवार सोमवार की रात करीब 2:30 वर्षा शुरू हुई इस दौरान सुबह करीब 6 बजे तक गरज चमक के साथ तेज वर्षा होती रही वही अभी भी बारिश जारी है, इस दौरान जगह जगह पानी भरने से लोगों की नाराजगी भी सामने आ रही है।