विदिशा, ममता पांडे। जिला अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही ने एक बार फिर  इस नोबल प्रोफेशन को शर्मसार किया है। 26 अगस्त को पैदा हुए मासूम शिशु के इलाज में लापरवाही के चलते उसका हाथ काला पड़ गया और अब उसकी जिंदगी बचाने के लिए हाथ का अलग किया जाना जरूरी है।

माता पिता ने डॉक्टर पर एक्सपायरी डेट का वैक्सीन लगाने का आरोप लगाया है। बता दें कि के मासूम का हाथ वैक्सीन लगने के बाद काला पड़ गया है। इस मामले में माता पिता ने 1 डॉक्टर पर एक्सपायरी डेट का वैक्सीन लगाने का आरोप लगाया है। अब भोपाल के हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर ने कहा है मासूम का हाथ काटना पड़ेगा। जब एमपी ब्रेकिंग संवाददाता जिला अस्पताल में डॉक्टर का पक्ष जानने के लिए पहुंचे तो सिविल सर्जन डॉ संजय खरे अपने कक्ष से। जिला अस्पताल में भी सिविल सर्जन संजय खरे का कोई अता-पता नही मिला।

इस मामले में स्थानीय विधायक शशांक भार्गव ने दोषी डॉक्टरों पर कार्यवाही करने और डॉक्टरों की लापरवाही से दिव्यांग होने वाले मासूम को गोद लेने के लिए शासन से आग्रह किया है। जिला कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने इस मामले में भोपाल के हमीदिया अस्पताल के डॉक्टरों से मासूम के संबंध में जानकारी ली साथ ही इस प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश दिए।