Youth-killed-father-mother-and-wife--7-year-old-son-seriously-injured-in-raisen-

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ जहां मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) भू-माफियाओं (Land mafia) के खिलाफ कड़े से कड़े कदम उठा रही है तो वही दूसरी तरफ भू-माफिया भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे है। लोगों की जान लेना जैसे उनके लिए एक आम बात हो गई हो। ताजा मामला मध्यप्रदेश विदिशा (Vidisha) जिले का है। जहां जंगल की जमीन के अतिक्रमण के मुक्त कराने के लिए शिकायत दर्ज कराने पर सरपंच के पति को मौत के घाट उतार दिया गया।

यह भी पढ़ें….MPPSC: मुख्य परीक्षा देने से पहले इंदौर में छात्र ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

जानकारी के अनुसार विदिशा जिले के मुरवास गांव की सरपंच (Sarpanch) आशादेवी वाल्मिकी के पति संतराम वाल्मिकी जंगल की जमीन के अतिक्रमण पुलिस में शिकायत की थी। जिससे गुस्साए कुछ 4-5 लोगों ने पहले संतराम को घेरा और फिर पिटाई कर डाली। इससे भी आरोपियों का मन नहीं भरा तो उसके बाद संतराम पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया ,जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

सिरोंज विधायक उमाकांत शर्मा ने लगाए आरोप
इस पूरी घटना में सिरोंज विधायक उमाकांत शर्मा (Sironj MLA Umakant Sharma) ने पुलिस पर आरोप लगते हुए कहा कि भूमाफियाओं की मदद कर रही है। संतराम ने पुलिस से अपनी सुरक्षा की मांग की थी बावजूद इसके पुलिस ने कोई मदद नहीं की। वही मृतक संतराम के बेटे विशाल ने कहना है कि पुलिस थाना सिर्फ तीन मिनट की दूरी पर है बावजूद इसके घटना के एक घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। वही पुलिस का कहना है कि एक आरोपी रिजवान पुत्र फकीर मोहम्मद को हिरासत में ले लिया गया है। पर मामले की जाँच चल रही है। वही मामले की गंभीरता को देखते हुए डिविजनल मजिस्ट्रेट (Divisional magistrate) ने धारा-144 लागू कर दी है।

यह भी पढ़ें….MP Board: 9वीं और 11वीं की परीक्षा के लिए टाइम टेबल जारी, देखें डिटेल्स