Mandsaur- महिला ने राष्ट्रपति से की हेलीकॉप्टर की मांग, कहा- लोन और लायसेंस दोनों दें

दबंगों ने रोका खेत में जाने का रास्ता, महिला ने मांगा हेलीकॉप्टर

मंदसौर, राकेश धनोतिया। मंदसौर जिले से एक दिलचस्प खबर सामने आया है। यहां एक महिला ने भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Presidend Ram Nath Kovind) को पत्र लिख कर हेलीकॉप्टर (helicopter) खरीदने के लिए लोन देने की बात कही है। इसके साथ ही महिला ने पत्र में हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए लाइसेंस की भी मांग की है। लेकिन वो यह हेलीकॉप्टर किसी सैर-सपाटे के लिए नहीं बल्कि अपने खेत में जाने के लिए इस्तेमाल करना चाहती है।

दबंगों ने रोका खेत का रास्ता, महिला ने मांगा हेलीकॉप्टर
पूरा मामला मंदसौर के गरोठ तहसील के आगर गांव का है। यहां रहने वाली बसंती बाई (Basanti bai) ने राष्ट्रपति को पत्र (letter) लिखकर हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए लोन (loan) देने की मांग की है। दरअसल बसंती बाई के खेत जाने का रास्ता गांव के एक दबंग और उसके बेटों ने बंद कर दिया है। खेत का रास्ता खुलवाने के लिए महिला ने सरकारी कार्यालयों के कई चक्कर काटे, लेकिन उसकी कहीं पर भी कोई सुनवाई नही हुई। जिसके बाद उसने देश के राष्ट्रपति को पत्र लिखने फैसला किया और हेलीकॉप्टर के लिए लोन तथा लाइसेंस की मांग की।

खेत के रास्ते में खोद दी खाई
राष्ट्रपति को लिखे पत्र में महिला किसान बसंती बाई लौहार ने अपना दर्द बयां करते हुए लिखा है कि गांव में मेरी 0.41 हेक्टेयर याने केवल दो बीघा रकबे की छोटी सी जमीन है, जिस पर उपजे अनाज से मेरा परिवार चलाने में थोड़ा सहयोग मिल जाता है। लेकिन पिछले बहुत समय से मेरे खेत पर जाने के रास्ते को गांव के दबंग परमानंद पाटीदार और उसके बेटे लवकुश पाटीदार ने बन्द कर दिया है। खेत पर जाने के रास्ते में खाई खोद दी गई है, जिसके कारण खेत पर जाना ही मुश्किल हो रहा है और खेती भी नहीं कर पा रही हूं।

स्थानीय प्रशासन ने नहीं सुनी समस्या
खेत पर जाने के रास्ते को खोलने के लिए मैंने कई अधिकारियों के चक्कर काट लिए लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई, कृपया मुझे हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए ऋण उपलब्ध कराया जाए साथ ही हेलीकॉप्टर चलाने का लाइसेंस भी दिया जाए ताकि मैं मेरे खेत पर जा सकूं। महिला के साथ पूरे परिवार ने इस समस्या को लेकर स्थानीय प्रशासन से भी गुहार लगाई थी, लेकिन कोई सुनवाई न होने पर आखिरकार इन्होने राष्ट्रपति के सामने अपनी समस्या भेजी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here